5 दिन की दुल्हन की खुली पोल

414
SHARE

जींद ।

8 फरवरी को पिल्लूखेड़ा में पति, सास, ससुर को नशीला पदार्थ पिलाकर रात को फरार होने वाली 5 दिन की दुल्हन और उसके चार साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दुल्हन की हकीकत अब सबके सामन आ गई है। वह खुद 3 बच्चों की मां है और उसने अपना एड्रेस भी गलत दिया था। एड्रेस उत्तर प्रदेश का दिया था, जबकि वह उत्तराखंड की रहने वाली है। जो महिला मां और भाई बनकर उसके घर आए थे, असल में वह उसकी सास और एक अन्य मुस्लिम लड़का था।

3 फरवरी को जाउ नगर उत्तर प्रदेश निवासी मीना उर्फ गीता से उत्तराखंड में माला डाल कर शादी की थी। 8 फरवरी की रात को गीता की मां ओमवती और खुद को भाई बताने वाला लक्की कार चालक मनोज के साथ गाड़ी लेकर पहुंचे थे। उसी रात को गीता ने अपने पति सुरेश, ससुर वेद ओर सास खजानी को चाय में नशीला पदार्थ पिला दिया।

इसके बाद गीता व उसके साथी घर में लूटपाट करने लगे। तभी महिला की ननद यानी की सुरेश की बहन दयावती अचानक घर पहुंच गई। उसके द्वारा शोर मचाए जाने पर चारों आरोपी अपनी गाड़ी को छोड़ कर फरार हो गए। पुलिस ने दयावती की शिकायत पर गीता समेत चारों के खिलाफ नशीला पदार्थ देने, लूटपाट की कोशिश करने समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

पिल्लूखेड़ा थाना प्रभारी हरिओम ने बताया कि पुलिस जांच में सामने आया कि गीता का असली नाम मीना है। जो गीता की मां ओमवती बता रहा थी, वह गीता की मां नहीं बल्कि सास है। उसका असली नाम राजकुमारी है। जो भाई लक्की बता रहा था, वह उत्तराखंड निवासी मोहम्मद अजगर है।

SHO ने बताया कि गाड़ी ड्राइवर का नाम मनोज है। 3 बच्चों की मां मीना उर्फ गीता घरों में झाडू पोछे का कार्य करती है। उसका पति जिंदा है और मजदूरी करता है। दयावती की मार्फत गांव के ही एक व्यक्ति के माध्यम से उनसे संपर्क हुआ था। सुरेश के साथ शादी के बाद लिव इन रिलेशन के कागजात बनवाए गए थे। योजना सुरेश के परिजनों का लूटने की थी लेकिन दयावती की चौकसी ने उन्हें सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal