8 वर्षीय बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या

283
SHARE

हिसार।

नेपाली मूल की 8 वर्षीय बच्ची के साथ दरिंदगी करने के बाद बेरहमी से उसे माैत के घाट उतारा गया था। शव छुपाने के लिए कचरे से ढक दिया था, लेकिन कहते हैं कि अपराधी काेई न काेई सुराग छाेड़ देता है। इस मामले में भी ऐसा ही हुआ, जिसने आराेपी तक पुलिस काे पहुंचा दिया। शुक्रवार की शाम करीब साढ़े 6 बजे लापता हाेने से पहले बच्ची अपने घर के बाहर साइकिल के टायर से खेल रही थी। इसी टायर ने बच्ची तक पहुंचने का रास्ता दिखाया लेकिन तब तक काफी देर हाे चुकी थी।

 पुलिस ने गाेदाम के कैमरे की फुटेज खंगाली ताे इसमें बच्ची काे ले जाते हुए आराेपी नजर आया। पुलिस टीम ने आराेपी की पहचान करके सुंदर नगर स्थित घर से धरदबाेचा। बच्ची की मां घराें में और पिता एक पीजी में काम करते हैं। वे दाेनाें राेज की तरह काम पर गए थे। बच्ची घर पर अकेली थी। इसे सुंदर नगर वासी माेनू अपने साथ अगवा कर ले गया था। बच्ची अपने साथ साइकिल का टायर लेकर चली गई थी।

आराेपी बच्ची काे अपने साथ हैफेड गाेदाम के अंदर ले गया। इस दाैरान गाेदाम की दीवार के पास ही बच्ची के हाथ से टायर छूट गया था। फिर बच्ची काे गाेदाम से बाहर सिरसा राेड की तरफ झाड़ियाें में ले गया था। वहां पर बच्ची के साथ दुष्कर्म और कुकर्म किया था। खुद के पकड़े जाने के भय से आराेपी ने बच्ची के मुंह पर पत्थर से कई वार करके मार डाला । पुलिस ने आराेपी काे माैके पर ले जाकर घटनास्थल की निशानदेही भी करवाई है। सिटी थाना एसएचओ कप्तान सिंह ने बताया कि आराेपी माेनू काे गिरफ्तार कर लिया है। इससे पता लगाया जाएगा कि बच्ची पर आराेपी की काफी दिनाें से नजर थी या फिर उसी दिन वारदात की।

जिस इलाके से बच्ची लापता हुई थी, वहां के कैमराें की फुटेज खंगालने पर तलाश का दायरा करीब 200 मीटर था। बच्ची के आसपास कहीं हाेने के सुराग पुलिस काे मिले थे। पर, यह नहीं पता था कि बच्ची के साथ 10 फरवरी की शाम काे दरिंदगी करके मार डाला गया था। पुलिस के साथ बच्ची काे तलाशने में परिजनाें और परिचिताें ने खूब प्रयास किए। तब साइकिल का टायर व कैमरे की फुटेज के जरिये कुछ सुराग लगा ताे बच्ची का शव मिल पाया था। पुलिस के अनुसार वारदात करने के बाद आराेपी रात एक बजे अपने घर पहुंचा था।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal