भिवानी :धोखाधड़ी कर 30 लाख रू की चपत लगाने वाले 4 शातिर ठग गिरफ़्तार

1250
SHARE

बीमा पॉलिसी वाले हो जाएँ सावधान !
महामारी में आर्थिक मार झेल रहे लोगों को शातिराना अंदाज में लूटने वाले गिरोह का हुआ भांडाफोड़
भिवानी CIA-1 पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी
धोखाधड़ी कर 30 लाख रू की चपत लगाने वाले 4 शातिर ठग गिरफ़्तार
ये ठग लॉकडाउन की मार झेल रहे लोगों को बनाते थे निशाना
बंद हुई बीमा पॉलिसी शुरू करवाकर सारा पैसा दिलाने का देते थे लालच
तालु गाँव के बलजीत को झाँसे में लेकर ठगे थे 30 लाख रूपये
बलजीत की बंद हुआ बीमा पॉलिसी शुरू करवाकर सारा पैसा दिलाने का दिया था प्रलोभन
चारों ठगों से पुलिस ने लाखों रुपये, लैपटॉप, फ़र्ज़ी पेन कार्ड, आधार कार्ड व चेक बुक की बरामद
पुलिस अब इस ठग गिरोह के अन्य साथियों की करेगा तलाश

भिवानी।

अगर आपकी भी कोई बीमा पॉलिसी है और किसी वजह से बंद है, या फिर कोई किसी तरह का लालच या प्रलोभन देकर उसे चालू करवाने को कह रहा है तो जरा सावधान हो जाइए। ये खबर आपको बाखबर कर लूटने से बचा सकती है। दरअसल भिवानी सीआईए वन पुलिस ने एक ऐसे शातिर ठग गिरोह का भंडाफोड़ किया है, जो महामारी व लॉकडाउन के दौरान आर्थिक मार पड़ने के चलते अपनी किसी भी तरह की बीमा पॉलिसी बंद कर चुके थे। ये ठग ऐसे लोगों को पॉलिसी शुरू करवाकर पूरा पैसा देने का लालच देकर उनसे लाखों रूपये की ठगी करते थे।

भिवानी सीआईए वन पुलिस के हत्थे चढ़े ये युवक दिखने में जीतने साधारण लग रहे हैं, दरअसल उतने ही बड़े शातिर व ठग हैं। ठगी भी ये किसी पैसे वाले से नहीं, बल्कि ऐसे आदमी को निशाने बनाते थे, जो कोरोना महामारी या लॉकडाउन में आर्थिक तंगी के चलते अपनी किसी बीमा पॉलिसी को बंद करवा चुका था। इसको लेकर ये ऐसे ही लोगों को फ़ोन करते रहते और कोई ऐसा मिलता, जिसकी पॉलिसी बंद हो चुकी हो तो, उसे ये उसकी पॉलिसी चालू करवाकर जल्द सारे पैसे दिलाने का झाँसा देकर चपत लगा देते।

भिवानी सीआईए वन के इंचार्ज इंस्पेक्टर योगेश हुड्डा ने बताया कि ये यूपी निवासी गौरव, सचिन, कपील व शाहरुख़ को भिवानी के बलजीत नामक व्यक्ति को उसकी बीमा पॉलिसी शुरू करवाकर सारे पैसे दिलवाने के नाम पर 30 लाख रूपये की ठगी के आरोप में गिरफ़्तार किया है। उन्होंने बताया कि गौरव से एक लाख 50 हज़ार रूपये, सचिन से 90 हज़ार रूपये, फ़र्ज़ी पैन कार्ड व आधार कार्ड, कपील से 5 हज़ार रुपये तथा शाहरुख़ से एक लैपटॉप बरामद किया है। जिससे ये ठग फ़र्ज़ी आधार व पैन कार्ड बनाने व दस्तावेज़ों में नाम बदलने का काम करते थे।
इंस्पेक्टर योगेश हुड्डा ने बताया कि ये ठग लॉकडाउन के दौरान बीमा पॉलिसी बंद करवाने वाले लोगों को फ़ोन कर निशाना बनाते थे। जो कोई इनके झाँसे में आता तो उससे ये बार बार प्रलोभन देकर उससे लाखों रूपये अपने खाते में डलवाते रहते और कहते की ये पैसा व पॉलिसी का सारा पैसा एक साथ उसे मिलेगा। यही सब बलजीत के साथ किया और इससे दस माह में तीस लाख रूपये ठग लिए। उन्होंने बताया कि इनके अन्य साथियों को भी जल्द गिरफ़्तार कर ऐसी ठगी की अन्य वारदातों का खुलासा किया जाएगा।
कहावत है कि आसमान से गिरे और खजूर में अटके। ऐसा ही कुछ ये ठग कर रहे थे। एक तो लोगों पर महामारी व लॉकडाउन की मार, उपर से इनकी ठगी ने ना जाने कितने लोगों को चपत लगाई होगी। ऐसे में देखना होगा कि पुलिस कब और कितने ठगों को गिरफ़्तार कर ऐसी कितनी ठगी की वारदात सुलझा पाती है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal