भिवानी: कांग्रेस समर्थित सतेंद्र मोर बने नप उपप्रधान

450
SHARE

भिवानी में बीजेपी को एक और झटका धीरे से लगा :

नगरपरिषद वाईस चेयरमैन के चुनाव में कांग्रेस समर्थित सतेंद्र मोर ने मारी बाजी
शिक्षा मंत्री गुज्जर को भिवानी उपप्रधान का प्रभारी बनाया था हालात देख वह भी नही आये !

भिवानी हलचल/राजेन्द्र चौहान।
भिवानी नगरपरिषद वाईस चेयरमैन के चुनाव में बीजेपी को एक और झटका लगा। उप प्रधान के रूप में तीन बार पार्षद रह चुके सतेंद्र मोर ने बाजी मार ली है।दो बार सतेंद्र मोर व एक बार इनकी पत्नी पार्षद रह चुकी है।सतेंद्र मोर राज्यसभा सांसद रणदीप सुरजेवाला के कट्टर समर्थक हैं।भिवानी के 31 पार्षद व एक मत विधायक सहित की तरफ से उप चेयरमैन का चुनाव करना था।माना जा रहा था कि पार्षद अंकुर कौशिक सत्ता की तरफ से थे लेकिन समीकरण ऐसे बन गए कि सरकार के अंदर खाते चाहते हुए भी मुश्किल से 13 मत ही हांसिल कर पाए।वहीं कांग्रेस समर्थित सतेंद्र मोर 19 मत हांसिल करने में कामयाब हो गए।दो बार तारीख भी तय होने के बाद स्थगित हो गई थी।पहले सर्वसम्मति के समीकरण बनाये गए लेकिन बात सिरे नही चढ़ पाई थी।बाद में अंदर खाते बीजेपी समर्थक पार्षद अंकुर कौशिक के साथ ज्योहीं दिखाई दिए कि एकाएक पलड़ा दूसरी तरफ भारी दिखने लगा। पार्षद सतेन्द्र मोर के साथ प्रभुत्व वाला धड़ा साथ खड़ा हो गया।जिसके चलते अंदर खाते सत्ता पक्ष का इशारा अंकुर कौशिक की तरफ होने के बावजूद विरोधी खेमे से सतेंद्र मोर जीत गए।हालांकि भिवानी उपप्रधान चुनाव के लिए शिक्षा मंत्री कंवरपाल गुज्जर को प्रभारी बनाया गया था लेकिन वह हालात देख पहले ही भिवानी नही आये।वैसे सतेंद्र मोर को नगरपरिषद का व्यक्तिगत अनुभव भी है।बीजेपी के धराशायी समीकरण प्रश्नचिन्ह खड़े कर गए।सही मायनों में न चेयरपर्सन बीजेपी बनवा स्की थी और न ही वाईस चेयरमैन।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal