भिवानी: उपायुक्त ने बैठक में अधिकारियों से मांगा रिपोर्ट के साथ जवाब

68
SHARE

भिवानी।

उपायुक्त नरेश नरवाल की अध्यक्षता में 14 मार्च को विभिन्न विभागों के अधिकारियों की एक बैठक आयोजित की जाएगी। बैठक में उपायुक्त विभागों द्वारा कियान्यावित योजनाओं की समीक्षा करेंगे। उपायुक्त ने अधिकारियों को प्रगति या योजना बनाने संबंधित रिर्पोट के साथ बैठक में हाजिर में होने के निर्देश दिए हैं। उपायुक्त द्वारा अधिकारियों से विकास परियोजनाओं के बारे में रिपोर्ट के साथ ही जवाब मांगा जाएगा।
उल्लेखनीय है कि जिला में अनेक विकासपरक योजनाएं चलाई जा रही हैं, जिनमें अनेक योजनाएं निर्माण से संबंधित हैं। इनमें कुछ निर्माणाधीन हैं तो कुछ का निर्माण करवाया जाना है। कुछ समस्याएं सडक़ों के जर्जर होने व डिवाईडर तथा ग्रील टूटने के संबंध में हैं। इसी बीच उपायुक्त द्वारा भी समय-समय पर शहर का निरीक्षण किया जाता है। निरीक्षण के दौरान उपायुक्त द्वारा अधिकारियों को कुछ जरूरी निर्देश दिए जाते हैं। यहां यह बताना जरूरी होगा कि उपायुक्त निरीक्षण के दौरान दिए गए उनके द्वारा दिए गए निर्देशों पर पूरी नजर रख रहे हैं कि अधिकारियों ने उनके आदेशों की अनुपालना शुरु कर दी या या नही। यदि आदेशों पर कार्य शुरु नहीं होता है तो उपायुक्त श्री नरेश नरवाल तुरंत प्रभाव से अनुपालन के आदेश के जारी करते हैं, जैसा ही अभी दो दिन पहले हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को जारी किए गए हैं और उनसे पूछा गया है कि उन्होंने सिटी स्टेशन रोड़ बने अतिक्रमण हटाने व ग्रीन बेल्ट विकसित करने, सेक्टर 13 व 23 में सडक़ों जर्जर सडक़ों की मरम्मत करने तथा सीवरेज सिस्टम दुरूस्त करने व बारिश के पानी की निकासी को लेकर क्या कार्रवाई की।
इसी कड़ी में उपायुक्त ने उपायुक्त नरवाल की अध्यक्षता में 14 मार्च को एक बैठक आयोजित होने जा रही है, जिसमें नगराधीश के आलवा लोक निर्माण विभाग भवन एवं मार्ग, राष्टï्रीय राजमार्ग लोक निर्माण विभाग भिवानी व रोहतक डिवीजन के अधीक्षक अभियंता व कार्यकारी अभियंता मौजूद रहेंगे। उपायुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं वे मुख्यमंत्री घोषणाओं की नवीनत्तम स्थिति व प्रगति रिपोर्ट, कार्य आवंटित के साथ कार्य आरंभ व पूर्ण किए जाने की तारीख की रिर्पोट के साथ बैठक में हाजिर हों। इसी प्रकार से अधिकारियों से शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में मार्ग, ग्रील, डिवाईडर, साईन बोर्ड व ग्रीन बेल्ट की वास्तविक स्थिति तथा उनकी मरम्मत-पुनर्निर्माण कार्य योजना के एस्टीमेट व नक्सा की रिर्पोट पर विस्तार से समीक्षा की जाएगी। अधिकारियों से यह पूछा जाएगा कि सडक़ों व सरकारी जमीन पर अतिक्रमण हटाने को लेकर क्या योजना बनाई है और क्या स्थिति है। अधिकारियों ने जनहित में भविष्य की क्या योजनाएं बनाई हैं। यदि कोई योजना तैयार की है तो उसकी अनुमानित लागत क्या है।
उपायुक्त बैठक के दौरानप भीम स्टेडियम रोड़ के पुनर्निर्माण तथा जेबी गुप्ता हस्पताल से शहीद भगत सिंह चौक तक सडक़ मार्ग के सौंदर्यकरण कार्य व ग्रीन बेल्ट विकसित करने बारे भी समीक्षा करेंगे। उपायुक्त ने अधिकारियों से देवराला से पोहकरवास तक सडक़ मार्ग तक बने गड्डïों पर भी अपनी स्थिति स्पष्टï करने के निर्देश दिए जारी हैं, जिस पर अधिकारियों से बैठक में जवाब पूछा जाएगा। इसी प्रकार से रोहतक रोड़ से हांसी रोड़ व रोहतक रोड़ से रेलवे ओवरब्रिज तक विभिन्न जगहों पर डिवाईडर के खस्ता हालत होने से हादसों की आशंका बनी रहने के बारे में रिपोर्ट के साथ हाजिर होने के निर्देश दिए हैं। अधिकारियों से पूछा जाएगा कि उन्होंने सडक़ हादसों पर अंकुश लगाने के लिए क्या कदम उठाए हैं।
उपायुक्त ने नेशनल हाईवे अधिकारियों से निर्देश दिए हैं कि भिवानी-रोहतक मार्ग पर गांवों में बने गति रोधक को हटाकर रंबल स्ट्रीप लगवाने के बारे में भी रिपोर्ट सहित हाजिर हों। इसी प्रकार से उपायुक्त ने अधिकारियों से कहा है कि वे लोहारू के हलका के गांव बरालु, झांझड़ा टोडा, सोहांसड़ा व गोठड़ा में सरकार द्वारा स्वीकृत रेलवे अंडर पास की प्रगति रिपोर्ट भी साथ लेकर आएं ताकि वास्तविक स्थिति का पता चल सके। उपायुक्त श्री नरवाल ने अधिकारियों से गांव नाथुवास से गुजरानी-बामला सडक़ तक साढ़े तीन कि.मी. सडक़ निर्माण के साथ भिवानी-रोहतक रेलवे लाईन पर अंडर पास निर्माण की स्थिति-प्रगति रिपोर्ट साथ लोने के निर्देश दिए हैं।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal