भिवानी: परीक्षा लेने के बावजूद भी रिजल्ट एमडब्ल्यू दर्शाना विद्यार्थियों के भविष्य से खिलवाड़

179
SHARE

भिवानी :

चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय शिक्षा के मंदिर की बजाए लापरवाहियों का अड्डा बनता जा रहा है तथा सीबीएलयू द्वारा बरती जा रही लापरवाहियों का असर सीधे तौर विद्यार्थियों के भविष्य पर पड़ रहा है। ऐसा ही लापरवाही का एक उदाहरण सीबीएलयू ने एक बार फिर से पेश किया है, जहां पर बीए 5वें सैमेस्टर के फाईन आर्टस, म्यूजिक व मैथ विषय की परीक्षा लेने के बावजूद भी परीक्षार्थियों का परिणम एमडब्ल्यू (मार्क वेटेड) दर्शाया जा रहा है। जिसके कारण विद्यार्थियों को समस्याओं का समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

विद्यार्थियों की इसी समस्या के समाधान की मांग को लेकर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के विभाग संयोजक आशु पालुवास के नेतृत्व में स्थानीय राजीव गांधी महिला महाविद्यालय की छात्राओं ने सोमवार को चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय के परीक्षा नियंत्रक को मांगपत्र सौंपा है। इस मौके पर आशु पालुवास ने आरोप लगाया कि देश भर में सीबीएलयू से ज्यादा लापरवाह कार्यशैली किसी विश्वविद्यालय की नहीं है, जिसकी लापरवाह कार्यशैली का भुगतान विद्यार्थियों को अपने भविष्य से खिलवाड़ के साथ करना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बीए पांचवे सैमेस्टर के फाईन आर्ट, म्यूजिक व मैथ के परीक्षार्थियों का परीक्षा परिणमा एमडब्ल्यू दर्शाया जा गया है तथा जब इस बारे में सीबीएलयू प्रशासन को अवगत करवाया गया तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया। इस मौके पर राजीव गांधी महिला महाविद्यालय की एबीवीपी की प्रधान प्रीति कुमारी ने कहा कि वे इस समस्या के समाधान की मांग को लेकर पहले भी दो बार सीबीएलयू प्रशासन से मिल चुके है, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। उन्होंने परीक्षा नियंत्रक को पांच दिन का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि यदि पांच दिनों में विद्यार्थियोंं की इस समस्या का समाधान नहीं हुआ तो वे सीबीएलयू का घेराव करने पर मजबूर होंगे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal