भिवानी: अपने नाम की तरह स्वच्छ होना चाहिए छोटी काशी शहर : उपायुक्त

157
SHARE

भिवानी।

उपायुक्त नरेश नरवाल ने कहा कि मंदिरों के शहर भिवानी को छोटी काशी कहा जाता है लेकिन जैसा भिवानी का नाम है वैसा भिवानी शहर स्वच्छ नहीं है। नाम के हिसाब से देखा जाए तो भिवानी शहर बिल्कुल स्वच्छ व सुंदर होना चाहिए। भिवानी शहर को गंदगी से मुक्त बनाने के लिए अधिकारियों को अतिरिक्त प्रयास करने होंगे, इसके साथ-साथ कुछ सख्त कदम भी उठाने होंगे।
उपायुक्त नरवाल शहर को गंदगी और कचरे से मुक्त बनाने को लेकर अपने कैंप कार्यालय में नगर परिषद अधिकारियों को जरूरी निर्देश दे रहे थे। बैठक में उपायुक्त ने नगर परिषद अधिकारियों को निर्देश दिए कि अकसर लोग अपने मकान का मलबा व कचरा शहर में सडक़ों के किनारे कहीं भी डाल देते हैं, इससे शहर की सुंदरता प्रभावित होती है और शहर बदसूरत नजर आती है। उन्होंने नगर परिषद अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे टीम बनाकर शहर में निगरानी करें और मलबा या कचरा डालने वालों के चालान काटें।

नगर परिषद की अपनी ब्लॉक टेस्टिंग लैब होनी चाहिए
डीसी नरवाल ने नप अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि उनके द्वारा शहर में अनेक विकास कार्य टेंडर के माध्यम से करवाए जाते हैं। निर्माण कार्य सामग्री की गुणवत्ता की जांच होनी जरूरी होती है। उन्होंने निर्देश दिए कि निर्माण सामग्री की जांच के लिए नगर परिषद कम से कम दो मशीनें खरीदे और अपनी टेस्टिंग लैब स्थापित करें ताकि विकास कार्यों में गुणवत्ता पूर्वक सामग्री प्रयोग हो।

नगर परिषद के पास अपनी चौपिंग मशीन खरीदें
उपायुक्त ने बैठक में कहा कि शहर में नगर परिषद की हजारों लाइटें सडक़ों के किनारे ऐसी जगह पर लगी है, जहां उनके साथ में पेड़ भी हैं। पेड़ों की टहनियां अकसर लाईटों पर आ जाती हैं, जिससे रोशनी बाधित होती है। पेड़ों की छटाई करने के लिए हर समय मशीन की जरूरत होती है, इसलिए नगर परिषद के पास अपनी चॉपिंग मशीन होनी चाहिए।

सार्वजनिक शौचालयों की सफाई नियमित रूप से होनी चाहिए
उपायुक्त ने निर्देश देते हुए कहा कि शहर में सार्वजनिक शौचालय लोगों की सुविधा के लिए होते हैं। इसलिए जरूरी है कि इन सार्वजनिक शौचालयों की सफाई नियमित रूप से हो ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।

पार्कों में घास व पौधों में नियमित रूप से पानी दिया जाए
उपायुक्त ने कहा कि शहर में नगर परिषद के अनेक पार्क हैं, इन पार्कों में घास व पेड़-पौधे तभी हरे-भरे रहते हैं, जब जब उनमें नियमित रूप से पानी दिया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि पार्कों में नियमित रूप से पानी देने के साथ-साथ सफाई व्यवस्था का भी पूरा ध्यान रखा जाए।
आमजन इधर-उधर गंदगी न फेंके: डीसी
उपायुक्त श्री नरवाल ने शहर की सामाजिक संस्थाओं से भी शहर को स्वच्छ बनाने में अपना सहयोग देने की अपील की है। उन्होंने आमजन से आह्वान किया है कि वे अपने मकान के आस-पास या अन्य किसी जगहों पर घर का कचरा न फेंके। शहर को गंदगी से मुक्त बनाने में सभी नागरिकों का सहयोग जरूरी है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal