भिवानी : 10 फरवरी से बंद हो सकती है प्रदेश भर की सब्जी मंडियां

6888
SHARE

भिवानी :

हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की ओर से सब्जी व फल व्यापारियों पर थौंपी गई मार्केट फीस के विरोध में आढ़तियों का विरोध जारी है तथा उन्होंने सरकार को चेतावनी दी कि यदि सरकार ने अपने वायदे अनुसार 8 फरवरी तक थौंपी गई मार्केट फीस वापिस नहीं ली तो 10 फरवरी से प्रदेश भर की मंडियों में अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी, जिसके बाद नागरिकों को होने वाली परेशानियों की जिम्मेवार सरकार व उसकी वायदाखिलाफी होगी।
यह बात हरियाणा आढ़ती संगठन सब्जी मंडी के प्रदेश उपप्रधान पुरूषोत्तम बुद्धिराजा ने रविवार को स्थानीय सब्जी मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि भाजपा सरकार द्वारा कोरोना काल में फल व सब्जी व्यापारियों पर दो प्रतिशत ड्यूटी लगाई थी। उन्होंने कहा कि अब एक मुश्त प्लस एक प्रतिशत फीस व्यापारियों से मांगी जा रही है, जो कि पिछले वर्ष के करीबन 50 प्रतिशत बढ़ाकर है, वो भी अग्रिम तौर पर मांगी जा रही है।

जिसके तहत आढ़तियों को 5 से 7 लाख रुपये सालाना सरकार को देने ही पड़ेंगे। उन्होंनें कहा कि इतनी मोटी रकम देना आढ़तियों के लिए आसान नहीं है। उन्होंने बताया कि इसी के विरोध में बीते 20 दिसंबर को फल व सब्जी विक्रेताओं द्वारा रोष स्वरूप सांकेतिक हड़ताल की गई थी।

उस समय प्रदेश के कृषि मंत्री ने आश्वान दिया था कि मार्केट फीस हटा ली जाएगी, लेकिन आज तक वे अपना वायदा पूरा नहीं कर पाए। सरकार के इसी वायदाखिलाफी के विरोध में बीते एक फरवरी को रोहतक में आयोजित प्रदेश स्तरीय मीटिंग में फैसला लिया गया कि यदि सरकार अपने वायदे अनुसार 8 फरवरी तक फल व सब्जी व्यापारियों पर थौंपी गई मार्केट फीस नहीं हटाती है तो 10 फरवरी से प्रदेश भर की सब्जी मंडियों में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जाएगी।
हरियाणा आढ़ती संगठन सब्जी मंडी के प्रदेश उपप्रधान पुरूषोत्तम बुद्धिराजा ने कहा कि कोरोना काल में सरकार की बात मानते हुए व्यापारियों ने अपनी जान पर खेलकर मंडिया खोली, ताकि आम आदमी को सब्जियों से वंचित ना रहना, लेकिन अब सरकार सब्जी व फल व्यापारियों पर ही अनाप-शनाप टैक्स थौंपकर उनके परिवार को भूखा मारना चाहती है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा फल व सब्जी व्यापारियों पर थौंपे गए टैक्स से सब्जी के भाव बढ़ेंगे, जिसका असर पहले से ही महंगाई की मार झेल रहे आम आदमी की जेब पर पड़ेगा। ऐसे में सरकार को चाहिए कि इस टैक्स को जल्द से जल्द वापिस ले।
      बुद्धिराजा ने आरोप लगाया कि प्रशासन सरकार गलत मार्गदर्शन कर रहा है तथा व्यापारियों व सरकार के बीच खाई खोदने का काम करेगा। जिसके चलते ये परेशानियां व्यापारियों को उठानी पड़ रही है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि फल व सब्जी व्यापारियों पर थौंपे गए टैक्स को वापिस नहीं लेती है तो मजबूरन उन्हे प्रदेश से पलायन करना पड़ेगा। ऐसे में सरकार जागे तथा उनकी मांग सुने। यदि अब भाजपा सरकार उनकी मांग सुनती है तो आने वाले चुनाव के समय वे भी भाजपा की सुनेंगे।
इस अवसर पर महेंद्र जुनेजा, हैप्पी बजाज, सुरेश सरदाना, प्रयाग बुद्धिराजा, गुलशन, सुशील लोटा, किशन जुनेजा, संजय वधवा, गुलशन बंबानी, जोगेंद्र बंबानी सहित अन्य व्यापारी मौजूद रहे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal