हरियाणा में BJP कैंडिडेट के ब्राह्मणों पर बयान से बवाल

331
SHARE

भिवानी।

हरियाणा में भाजपा के हिसार लोकसभा कैंडिडेट रणजीत चौटाला के ब्राह्मणों पर दिए विवादित बयान में पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह की एंट्री हो गई है। उन्होंने इस पूरे विवाद में सोशल मीडिया (X) पर 7 लाइनें लिखी हैं। जिसमें उन्होंने चौटाला को बिना नाम लिए नसीहत दी कि राजनेता हर वर्ग के योगदान को पहचाने और ऐसे बयानों से किसी की भावनाओं को आहत करने से बचें। रणजीत चौटाला का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने कहा था कि ब्राह्मणों के भेद की वजह से दंगे-फसाद हो रहे हैं। जिसका हिसार में ब्राह्मण सभा ने भी विरोध जताया और चौटाला से माफी मांगने को कहा है। जिसके बाद चौटाला ने जुबान फिसलने की बात कहकर शब्द वापस लेने की बात कही थी। हिसार में घिरे रणजीत चौटाला के मामले में बीरेंद्र सिंह के सामने आने की सियासी वजह भी है। उनके बेटे बृजेंद्र सिंह अभी तक यहां से भाजपा के सांसद थे। हाल ही में वे भाजपा छोड़ कांग्रेस में चले गए। जिसके बाद बीरेंद्र सिंह ने कांग्रेस से बेटे बृजेंद्र के लिए टिकट की दावेदारी ठोकी है।

बीरेंद्र सिंह ने लिखा-” ढेरों विभिन्नताओं व असमानताओं में एकता ही भारत की पहचान है। समाज के हर वर्ग का देश के निर्माण में अहम योगदान है। किसी के भी योगदान को कम करके आंकना भारत के सामाजिक ढांचे को कमजोर करने का काम करता है। एक परिपक्व लोकतंत्र के लिए जरूरी है कि इसके राजनेता समाज के हर वर्ग के योगदान को पहचानें व अपने व्यवहार व बयानों से किसी की भी भावनाओं को आहत करने से बचें।”

रणजीत चौटाला ने कहा, ‘ब्राह्मण देवताओं ने देश को ऐसा भेद दिया है कि बिना बात के बात हो जाती है। कोई इसकी जरूरत नहीं है। 20 आदमी ऐसे बैठे हैं, यदि नेपाल से कोई आदमी आए तो वह क्या बता देगा कि ये जाट हैं, मुसलमान हैं या हिंदू हैं। सबकी एक ही खाल है, खाना-बिछाना भी एक है। यहां तक कि कपड़े भी एक जैसे पहनते हैं। बिना बात के मुद्दा पकड़ा दिया गया है, जिससे आज दंगे हो रहे हैं, फसाद हो रहे हैं।ब्राह्मण समाज को लेकर दिए बयान पर बवाल होने के बाद रणजीत सिंह चौटाला ने सफाई दी। उन्होंने कहा कि समाज में ब्राह्मण सबसे अग्रणी आदमी है। किसी भी तरह के शुभ मुहूर्त में ब्राह्मण को सबसे आगे रखा जाता है। मैं व्यक्तिगत तौर पर भी ब्राह्मण समाज में आस्था रखता हूं।

ब्राह्मणों पर दिए गए विवादित बयान को लेकर उनका एक VIDEO वायरल हो रहा है। जिसमें वह कह रहे हैं कि ब्राह्मण समाज ने जातिवाद फैलाया। इसका पता चलते ही हिसार की ब्राह्मण सभा भड़की हुई है। जिला ब्राह्मण धर्मशाला में रविवार को प्रधान राजकुमार भारद्वाज की अध्यक्षता में मीटिंग हो चुकी है, जिसमें रोष व्यक्त किया गया। प्रधान राजकुमार ने कहा कि चौटाला ने ब्राह्मण समाज पर जातिवाद फैलाने और समाज में जात-पात का जहर घोलने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि चौटाला अपने बयान पर माफी मांगें, नहीं तो 4 अप्रैल को मीटिंग बुलाकर उनके खिलाफ बड़ा फैसला लिया जाएगा।

हरियाणा में चाहे लोकसभा चुनाव हो या विधानसभा, ब्राह्मण वोटरों को रिझाने में सभी राजनीतिक दल लगे रहते हैं। इसकी बड़ी वजह यह भी है कि पूरे प्रदेश में 12% तक ब्राह्मण वोटर है, लेकिन इसके बाद भी हरियाणा में अभी तक सिर्फ एक ही ब्राह्मण मुख्यमंत्री बन पाया है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे ubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal