नूंह में बुलडोजर एक्शन तेज, हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन

333
SHARE

नूंह हिंसा में अब पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आया है। हरियाणा पुलिस की जांच में पाकिस्तानी यूट्यूबर जीशान मुश्ताक के बारे में पता चला है। जिसने भड़काऊ पोस्टें डाली थी। इस यूट्यूबर ने अहसान मेवाती पाकिस्तानी के नाम से सोशल मीडिया अकाउंट बना रखा था।

जिसमें उसने अपनी लोकेशन राजस्थान के अलवर बताई थी हालांकि हकीकत में वह पाकिस्तान के इस्लामाबाद में बैठा हुआ था। उसने मोनू मानेसर को मारने और नूंह में बवाल बचाने के लिए उकसाया था। यहां तक कि हिंसा के दिन जब जमकर आगजनी और तोड़फोड़ हो रही थी तो वह दूसरे वीडियो के साथ हिंसा के फुटेज भी जारी कर रहा था। इससे उसके नूंह में स्ट्रॉन्ग ग्राउंड कनेक्ट का शक पैदा हो गया है।

यही नहीं, उसने जिस IP एड्रेस से ये वीडियो अपलोड किए, वे पाकिस्तान एजुकेशन एवं रिसर्च नेटवर्क (PERN) के थे। इस सेंट्रलाइज्ड नेटवर्क से पाकिस्तान के एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस को इंटरनेट दिया जाता है। यह पाकिस्तान सरकार का ही हिस्सा है।

27 जुलाई को अहसान पाकिस्तानी पंजाब में सरगोधा के गांव कोट मुमीन में गया था, जहां उसने एक वीडियो रिकॉर्ड किया। हिंसा के बाद 1 अगस्त को वह लाहौर पहुंचा। यहां से जब उसने वीडियो अपलोड किया तो वह पाकिस्तानी पंजाब के CM सेक्रेट्रिएट से कुछ किमी की दूरी पर बिस्मिल्लाह मोंटेसरी स्कूल के क्रिकेट ग्राउंड के पास था। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

नूंह हिंसा के चलते 4 जिलों- नूंह, पलवल, फरीदाबाद और गुरुग्राम में हालात तनावपूर्ण हुए हैं। चारों जिलों में पैरामिलिट्री फोर्सेज की 20 कंपनियां तैनात की गई हैं। नूंह, पलवल और फरीदाबाद में पूरे जिले और गुरुग्राम में मानेसर, पटौदी व सोहना में इंटरनेट 5 अगस्त यानी आज रात 12 बजे तक बंद है। राज्य के 9 जिलों में धारा 144 लागू है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal