पंजीकृत श्रमिक की बेटी को इलेक्ट्रिक स्कूटी के लिए मिलेेंगे 50 हजार- डीसी नरेश नरवाल

336
SHARE

भिवानी।

सरकार द्वारा श्रमिकों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए अनेक योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। इसी कड़ी में श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत निर्माण कर्मकार की बेटी की उच्चतर शिक्षा के दौरान इलेक्ट्रिक स्कूटी के लिए 50 हजार रुपए दिए जा रहे हैं ताकि वह कॉलेज में आसानी से जा सके। अधिक जानकारी के लिए एचआरवाईलेबरडॉटजीओवीडॉटइन पोर्टल पर या श्रम विभाग के स्थानीय कार्यालय से संपर्क करें।
डीसी नरेश नरवाल ने बताया कि श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत निर्माण श्रमिकों के कल्याणार्थ अनेक योजनाएं चलाई जा रही हैं। इनमें एक बडी ही महत्वाकांक्षी योजना पंजीकृत श्रमिक की बेटी को उच्चतर शिक्षा हासिल करने के दौरान निशुल्क स्कूटी प्रदान करवाने की है। इस योजना के तहत पंजीकृत निर्माण श्रमिक की बेटी को विभाग द्वारा स्कूटी की खरीद पर 50 हजार रुपए की राशि दी जा रही है। उन्होंने बताया कि 50 हजार रुपए प्रोत्साहन राशि या वास्तविक एक्स-शोरूम कीमत, जो भी कम हो ई-रुपये के माध्यम/रूप में प्रदान किए जाते हैं। उन्होंने बताया कि इस प्रोत्साहन सहायता राशि प्राप्त करने के लिए एक वर्ष की नियमित सदस्यता एवं वेबसाइट पर उपलब्ध घोषणा पत्र पूर्ण रूप से भरकर पोर्टल पर अपलोड करना अनिवार्य है।
उन्होंने बताया कि इसके अलावा पंजीकृत श्रमिक की पुत्री महाविद्यालय में नियमित रूप से उच्चतर शिक्षा प्राप्त कर रही है, इस संदर्भ में महाविद्यालय/उच्च शिक्षा संस्थान के मुखिया द्वारा जारी किया गया प्रमाण-पत्र अपलोड करना अनिवार्य है, केवल वही छात्रा जो हरियाणा राज्य के किसी उच्च शिक्षण संस्थान/कालेज में पढ़ाई कर रही हो, इस प्रोत्साहन सहायता की पात्र होगी, श्रमिक की पुत्री की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए तथा शादीशुदा नही होनी चाहिए, श्रमिक की पुत्री के पास दोपहिया वाहन चलाने का वैध लाइसेंस होना चाहिए (अगर लागू है तो), श्रमिक के परिवार के किसी सदस्य के नाम पहले से ईंधन से चलने वाला या इलेक्ट्रिक वाहन नहीं होना चाहिए, इस योजना के अधीन प्रोत्साहन सहायता एक परिवार में एक इलेक्ट्रिक स्कूटर की खरीद तक सीमित है, लाभ की अधिकतम सीमा 50 हजार रुपए या वास्तविक एक्स-शोरूम कीमत, जो भी कम हो, ई- रुपये के माध्यम/रूप में दी जाएगी, आवेदक इलैक्ट्रिक स्कूटर के खरीद का बिल, प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने से एक महीने की अवधि तक, ऑनलाइन अपलोड करेगा अन्यथा भविष्य में वह किसी भी कल्याणकारी योजना के अंतर्गत किसी भी लाभ का पात्र नहीं होगा।

श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत श्रमिकों की बेटियों को इलेक्ट्रिक स्कूटी के लिए 50 हजार रुपए देने की बहुत ही अच्छी योजना है। यह विशेष तौर पर मजदूर वर्ग में बेटियों को उच्चतर शिक्षा दिलाने में कारगर साबित होगी। पंजीकृत श्रमिकों को इस योजना का लाभ चाहिए।
– नरेश नरवाल, उपायुक्त भिवानी।