कूनो में चीतों की मौत का सिलसिला जारी:तीन चीतों के बाद तीन शावकों की मौत

207
SHARE

मध्यप्रदेश।

मध्यप्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में 25 मई को दो और चीता शावकों की मौत हो गई। इससे दो दिन पहले भी एक शावक की मौत हुई थी। बचे हुए एक शावक की हालत भी गंभीर है। नामीबिया और साउथ अफ्रीका से लाए गए 20 में से 3 चीतों की मौत पहले ही हो चुकी है।

70 साल बाद देश में चीतों की वापसी हुई थी, जब 17 सितंबर 2022 को प्रधानमंत्री मोदी ने अपने जन्मदिन पर नामीबिया से आए 8 चीतों को मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में रिलीज किया था। इस साल 18 फरवरी को साउथ अफ्रीका से 12 और चीतों को कूनो में छोड़ा गया था। यानी कुल मिलाकर नामीबिया और साउथ अफ्रीका से 20 चीते लाए गए।

नामीबिया से लाई गई 4 साल की मादा चीता साशा की किडनी इंफेक्शन से मौत हो गई। वन विभाग ने बताया कि 15 अगस्त 2022 को नामीबिया में साशा का ब्लड टेस्ट किया गया था, जिसमें क्रियेटिनिन का स्तर 400 से ज्यादा था। इससे ये पुष्टि होती है कि साशा को किडनी की बीमारी भारत में लाने से पहले ही थी। साशा की मौत के बाद चीतों की संख्या घटकर 19 रह गई।

साउथ अफ्रीका से लाए गए चीते उदय की मौत हो गई है। शॉर्ट पीएम रिपोर्ट में बताया गया कि चीता उदय की मौत कार्डियक आर्टरी फेल होने से हुई। मध्यप्रदेश के चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन जेएस चौहान ने बताया कि हृदय धमनी में रक्त संचार रुकने के कारण चीते की मौत हुई है। यह भी एक प्रकार का हार्ट अटैक है। इसके बाद कूनों में शावकों सहित चीतों की संख्या 22 रह गई।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal