डॉ. भीमराव बड़े समाज सुधारक और विद्वान थे-डॉ० वी.पी. यादव

125
SHARE

भिवानी :

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के प्रांगण मेें आज भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी के 66वें महापरिनिर्वाण दिवस पर उन्हें सादर नमन करते हुए बोर्ड अध्यक्ष डॉ० वी.पी. यादव एवं सचिव श्री कृष्ण कुमार, ह.प्र.से. ने श्रद्धा सुमन अर्पित किए। इस अवसर पर बोर्ड के अधिकारी/कर्मचारी भी मौजूद रहे।
बोर्ड अध्यक्ष ने बताया कि आज भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर जी 66वीं पुण्यतिथि है। 06 दिसम्बर, 1956 को बाबा साहेब अम्बेडकर का देहावसान हुआ था।

संविधान निर्माता डॉ. भीमराव जी बड़े समाज सुधारक और विद्वान थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन जातिवाद को खत्म करने और गरीब, दलितों, पिछड़े वर्गों के उत्थान के लिए अर्पित किया। इसलिए आज के दिन उनकी पुण्यतिथि को देशभर में महापरिनिर्वाण दिवस के तौर पर मनाया जाता है।
बोर्ड सचिव ने बताया कि मानवता के मसीहा बाबा साहेब अम्बेडकर का जन्म मध्यप्रेदश के महू में 14 अप्रैल, 1891 को हुआ था। बाबा साहेब ने कहा था कि मनुष्य का जीवन लम्बा होने के बजाय महान होना चाहिए । धर्म मनुष्य के लिए है न की मनुष्य धर्म के लिए। मैं ऐसे धर्म को मानता हूं, जो स्वतंत्रता, समानता और भाईचारा सिखाता है। हमें बाबा साहेब के बताए गए मार्ग पर चलने की प्रेरणा लेनी चाहिए।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal