शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने 25 विद्यार्थियों एवं 12 विद्यालयों को किया सम्मानित

270
SHARE

25 विद्यार्थियों एवं 12 विद्यालयों को शिक्षा मंत्री, हरियाणा ने किया सम्मानित
 इतिहास की अंग्रेजी माध्यम की पुस्तकों का किया विमोचन
 बोर्ड शुरू करेगा भारतीय इतिहास ऑलपियाड
 इतिहास की नवीन पुस्तक लिखने वाले स्कूल/कालेज/विश्वविद्यालय के 49 अध्यापकों/प्रवक्तओं/प्राध्यापकों को किया सम्मानित
शिक्षा मंत्री ने किया बोर्ड कार्यालय में  लिफ्ट का लोकार्पण
 सर्वपल्ली राधाकृष्णन् स्कूल के स्वामी विवेकानन्द सदन की रखी आधारशिला एवं महर्षि वाल्मीकि सदन व गुरू द्रोणाचार्य सदन के नवीकृत भवन विद्यार्थियों को किया समर्पित।

भिवानी :

नवीन शिक्षा नीति भारतीय शैक्षिक क्षेत्र में सकारात्मक परिवर्तन लाने में  मील का पत्थर सिद्ध होगी। हरियाणा सरकार नवीन शिक्षा नीति को प्रदेश भर में जल्द ही लागू करने के लिए कटिबद्ध है। यह नीति शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के साथ-साथ बच्चों के सर्वागींण विकास में सहायक सिद्ध होगी। शिक्षा ही एक ऐसा साधन है, जिसके माध्यम से हर भारतीय परिवार के स्तर को ऊँचा उठाया जा सकता है, इसलिए शिक्षा को रोजगारोन्मुखी बनाने पर विशेष बल दिया जा रहा है।
ये उद्गार कंवर पाल, शिक्षा मंत्री हरियाणा ने आज यहां हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के प्रांगण में आयोजित बोर्ड के वार्षिक अलंकरण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि अपने संबोधन में व्यक्त किए। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो०(डॉ.) जगबीर सिंह, अध्यक्ष शिक्षा बोर्ड द्वारा की गई।
इस कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री ने वर्ष-2022 में प्रदेशभर में 10वीं व 12वीं कक्षा में प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले राजकीय व गैर-राजकीय स्कूलों के 25 होनहार परीक्षार्थियों को डॉ. कल्पना चावला अवार्ड, स्वर्ण पदक , रजत पदक व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं को डॉ. कल्पना चावला अवार्ड, प्रशस्ति पत्र व प्रोत्साहन स्वरूप 51000/- रुपए, इसी प्रकार द्वितीय स्थान पर रहने वाले छात्र/छात्राओं को रजत पदक , प्रशस्ति पत्र व 31000/- रुपए के साथ सम्मानित किया।
शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार कर प्रथम रहने वाले राजकीय व गैर-राजकीय 12 विद्यालयों को ट्रॉफी व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने प्रतिभावान बच्चों, शिक्षकों व विद्यालयों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं दी। इसके अलावा सर्वपल्ली राधाकृष्णन् लैब स्कूल के शैक्षिक व अन्य गतिविधियों में उत्कृष्ट स्थान प्राप्तकर्ता छात्र-छात्राओं को बधाई व शुभकामनाएं दी।
इसके अतिरिक्त स्कूल/कॉलेज/विश्वविद्यालय के 49 अध्यापकों/प्रवक्ताओं/ प्राध्यापकों द्वारा इतिहास की नवीन पुस्तक लिखने पर माननीय शिक्षा मंत्री द्वारा उन्हें सम्मानित किया गया। उन्होंने इस अवसर पर बोर्ड प्रांगण में सर्वपल्ली राधाकृष्णन् लैब स्कूल के स्वामी विवेकानन्द सदन (सीनियर सैकेण्डरी विंग) की आधारशिला रखी तथा महर्षि वाल्मीकि सदन (प्राईमरी विंग)व गुरू द्रोणाचार्य सदन (मिडल विंग) के नवीकृत भवन को विद्यार्थियों को समर्पित किया है उन्होंने बोर्ड मुख्यालय में दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए निर्मित 16 व्यक्तियों को एक साथ ले जाने वाली नवीन लिफ्ट का लोकार्पण किया तथा इतिहास की अंग्रेजी माध्यम की नई पुस्तकों का विमोचन भी किया गया। 11वीं व 12वीं कक्षा की नई इतिहास की पुस्तकें अगले सत्र 2023-24 से लागू की जाएंगी।
शिक्षा मंत्री ने घोषणा की कि नई इतिहास पुस्तकों के आधार पर बोर्ड प्रतिवर्ष एक विशेष परीक्षा का आयोजन भारतीय इतिहास ऑलपियाड के नाम से करेगा। इस खुली परीक्षा में किसी भी बोर्ड से सम्बन्धित विद्यार्थी भाग ले सकेंगे। प्रत्येक कक्षा में प्रथम आने वाले छात्र को 51000/– रूपये का नकद पुरस्कार (दर्शन लाल जैन पुरस्कार) से सम्मानित किया जाएगा ।
इस अवसर पर शिक्षा मंत्री ने ‘मोदी@20 ड्रीम्स मीट डिलीवरी'(Modi@20: Dreams Meet Delivery )एवं  ‘हरियाणवी मानै’ पुस्तक का विमोचन किया गया। पुस्तक में पीएम मोदी के विभिन्न पहलुओं को प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी अग्रणी सोच,सक्रिय दृष्टिकोण और परिवर्तनकारी नेतृत्व शैली के बारे में गहराई से विशषण किया गया है। यह पुस्तक निश्चित तौर पर मोदी के विचारों को समझने में मदद करेगा। लोग पुस्तक को पढक़र समझ सकते है कि कैसे उन्होंने अपने देश के लोगों के लिए बड़े सपने देखने का साहस किया और इन्हें साकार कर भारत के करोड़ों लोगों के जीवन को बदला।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal