बीमारियों से बचने के लिए इस समय मेथी के लड्डू, गुड़ व तिल के तेल का सेवन जरूरी : डॉ. शर्मा

150
SHARE

 भिवानी, 05 फरवरी। बंसत पंचवी के अवसर पर शनिवार को स्थानीय चौ. बंसीलाल राजकीय सामान्य अस्पताल स्थित आयुर्वेदिक अस्पताल में आयुष विभाग के महानिदेशक डॉ. साकेत कुमार के निर्देश पर व डीसी आरएस ढिल्लो के मार्गदर्शन में चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में लगभग 260 लोगों का पंचकर्म एवं योग प्रक्रियाओं से उपचार किया। शिविर के दौरान जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने कहा कि बंसत पंचवी पर मौसम परिवर्तन का समय शुरू होता है। इस दौरान शारीरिक बीमारियां होने की अधिक आशंका रहती है। इस मौसम में खान-पान का विशेष ध्यान रखने की जरूरत होती है। हलके भोजन के साथ स्वास्थ्य के लिए मेथी के लड्डू, गुड़, मिसरी आदि का सेवन जरूरी होता है। तिल के तेल का सेवन व तिल के तेल से शरीर की मालिस बेहद जरूरी होती है। इन दिनों में प्रतिदिन योग, प्राणायाम बेहद जरूरी होता है। डॉ. मीना व डॉ. संजय वैद ने बताया कि इन दिनों में तील का तेज बादाम से 6 गुणा ज्यादा लाभदायक होता है। इसलिए भोजन व शरीर की मालिश में तिल के तेल का उपयोग करे। इस दौरान आयुर्वेद, योग व होम्योपेथी ओपीडी में मरीजों को उपचार दिया गया। इसके अलावा शिविर में पंचकर्म उपचार भी दिया गया। शिविर में पंचकर्म, योग परामर्श प्रदर्शनी का आयोजन किया गया तथा चिकित्सकों ने शिविर में आए लोगों को शिशु व मातृ स्वास्थ्य संबंधी, कोरोना रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने संबंधित परामर्श दिया गया है। डॉ. संजय वैद ने शिविर में लोगों को खून की कमी, जोड़ों का दर्द, पेट का दर्द, खांसी, नजला आदि की बीमारियों का उपचार दिया। शिविर की अध्यक्षता जिला आयुर्वेद अधिकारी डॉ. देवेंद्र शर्मा ने किया। शिविर में फार्मासिस्ट ऑफिसर अमित वैद, डॉ. मीना, डॉ. प्रीति, डॉ. नीरज, डॉ. शील वोहरा, डॉ. सरोज, मनोज आदि आयुर्वेद चिकित्सक उपस्थित थे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal