मेरे दिल में एक टीस है, इस सरकार से टक्कर लेना चाहता हूं-भूपेंद्र हुड्‌डा

154
SHARE

हिसार।

पूर्व CM भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा की अध्यक्षता में विपक्ष आपके समक्ष कार्यक्रम हुआ। कांग्रेसी कार्यकर्ता गुलाबी पगड़ी पहनकर कार्यक्रम में पहुंचे। हुड्‌डा ने मंच पर आते ही कहा कि कोई नारे नहीं लगाएगा। हिसार के लोगों से उन्हें जो उम्मीद थी, उससे ज्यादा उनकी झोली में डाल दिया है। मैं आज वोट मांगने नहीं आया, कुछ कहने आया हूं और कुछ सुनने आया हूं।

हुड्‌डा ने कहा कि 2014 में हरियाणा पूरे देश में नंबर वन था। वो सरकार क्या है, जो चुने हुए नुमाइंदों पर विश्वास न करे। आज कहीं किसान मुआवजे के लिए धरना दे रहे हैं तो कहीं एयरपोर्ट को लेकर रास्ते की मांग हो रही है।

हुड्‌डा ने कहा कि मेरी उम्र 76 साल हो गई है, मैं दिल में एक टीस है। मैं आपसे इजाजत लेने आया हूं। एक टक्कर इस सरकार से लेना चाहता हूं। क्या आप लोग साथ दोगे। यदि आपकी सरकार आ जाएगी तो आप क्या करोगे। यह आज लिखा लो, मैं तुम्हारा भला नहीं कर सकता तो कोई नहीं कर पाएगा। इस सरकार ने तमाशा किया हुआ है। नए नए पोर्टल बना रखे हैं। ये लोग सब खत्म कर देंगे।

हुड्‌डा ने कहा कि सरकार आने पर वह दलित और पिछड़े वर्ग के लोगों को 100 गज के प्लाट देंगे। ओल्ड पेंशन स्कीम (OPS) पहली कैबिनेट मीटिंग में बहाल कर देंगे। यह कार्यक्रम विपक्ष आपके समक्ष है। अब एक ही नारा होगा, भाजपा-जजपा को भगाओ, कांग्रेस सरकार लाओ।

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष उदयभान ने कहा कि आज राहुल गांधी ने इनके भ्रष्टाचार को उजागर किया तो इनके पास जवाब नहीं था। राहुल गांधी इन मुद्दों का लेकर जनता के बीच लेकर गए। उन्होंने धर्म जात के नाम पर लड़ाने वालों को बेनकाब किया। तीन दिन पहले कैग की रिपोर्ट आई है।

दीपेंद्र ने कहा कि आज की रिकॉर्ड हाजिरी बता रही है। जिसे समझना है, समझ लें, यह हरियाणा में बदलाव की लहर है। इस साल का सबसे ठंडा दिन 6 जनवरी को पानीपत में रिकॉर्ड बना था। जबकि उमस भरा दिन आज हिसार में रिकॉर्ड दर्ज हुआ है।

दीपेंद्र हुड्‌डा ने कहा कि हमारे पास केवल जनता का होंसला और आशीर्वाद से लड़ रहे हैं। आज नौ साल बाद प्रदेश को विकास की पटरी से उतारने वाली सरकार से लड़ रहे हैं। आज विकास दर में हरियाणा 17 वें पायदान पर पहुंच गया है। निवेश दर में हरियाणा देश भर में सबसे पीछे हैं। हर घर में बेरोजगारों की फौज खड़ी कर दी। आज यह प्रदेश देश में किसान आंदोलन का पर्यायवाची बन गया है।

हरियाणा में विधानसभा चुनाव को एक साल का समय रह गया है। कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस की जीत के बाद हरियाणा में कुमारी सैलजा- रणदीप और किरण चौधरी की तिकड़ी भी आक्रामक हो गई है। जो कि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा के लिए चैलेंज बन गए हैं।

हरियाणा में कांग्रेस गुटों में बंटी है। सैलजा, रणदीप और किरण चौधरी का अपना गुट है। जबकि पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्‌डा का अपना गुट। विधायक भी इस गुटबाजी में बंटे हुए हैं। ऐसे में अब हुड्‌डा खेमा सतर्क है और अपने वफादारों की पहचान करने में जुटा हुआ है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal