सीबीएलयू की अनियमित्ताओं के विरोध में इनसो ने किया प्रदर्शन

129
SHARE

भिवानी :

विद्यार्थियों के भविष्य के प्रति चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय द्वारा बरती अनियमित्ताओं के विरोध में बुधवार को इनसो ने एक बार फिर से इनसो जिला अध्यक्ष सेठी धनाना के नेतृत्व में सीबीएलयू में प्रदर्शन करते हुए सीबीएलयू के परीक्षा नियंत्रक को मांगपत्र सौंपा तथा सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि या तो सीबीएलयू प्रशासन विद्यार्थियों के भविष्य के मद्देनजर गंभीरता से कार्य करे, नहीं तो इनसो द्वारा प्रदेश स्तर पर सीबीएलयू के खिलाफ अभियान छेड़ा जाएगा। इस दौरान इनसो पदाधिकारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि 3 दिन में विद्यार्थियों की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो इनसो भारी छात्र बल के साथ प्रदर्शन करने पर मजबूर होगी।
मांगपत्र के माध्यम से इनसो ने मांग की कि नई शिक्षा नीति के तहत विद्यार्थी एक से अधिक कोर्स विश्वविद्यालय से कर सकते है, जबकि सीबीएलयू ने इसके विरोध में फैसला लेते हुए एक ही कोर्स विद्यार्थी द्वारा किए जाने की अनुमति दी है, यह फैसला वापिस लिया जाए। यूजी छठे सैमेस्टर की यूएमसी संबंधित केसों की सुनवाई करवाए बिना रिजल्ट जारी किया गया, जबकि बार-बार सीबीएलयू को इस बारे अवगत करवाया गया था। इसके समाधान व विद्यार्थियों का समय बर्बाद करने पर कार्रवाई की जाए। रीवेल्यूवेशन का परिणाम जारी किए बगैर उसी सैमेस्टर का री-अपीयर की परीक्षा शुरू हो चुकी है, जो कि विद्यार्थियों से रूपये ऐंठने की साजिश है। छठे सैमेस्टर में बहुत से छात्र-छात्राएं अनुपस्थित दर्शाए गए है, जो कि हर बार की समस्या है, इसका स्थायी समाधान करवाया जाए। वैश्य कॉलेज के बीबीए के 5वें सैमेस्टर के विद्यार्थियों की ट्रेनिंग पूरी हुए 5 माह बीते गए है, परन्तु उनका वाईवा अभी तक नहीं हुआ।
इस मौके पर इनसो जिला अध्यक्ष सेठी धनाना ने कहा कि चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा से विद्यार्थी परेशान है। उन्होंने कहा कि छठे सैमेस्टर का परीक्षा परिणाम घोषित किया गया है, लेकिन उसमें इतनी गलतियां है कि उनका सुधार होना नामुमकिन है। इसके बावजूद भी सीबीएलयू प्रशासन गहरी नींद सोया हुआ है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय की कारगुजारियों पर नजर डाले तो एक परीक्षा के दो-दो शुल्क छात्रों से वसूले जा रहे है। अगर परीक्षा देने के लिए जारी किए गए रोल नंबर में विश्वविद्यालय की परीक्षा शाखा गलती करती है तो सुधार के नाम पर विद्यार्थियों से 200 रूपये वसूले जाते है।
इस मौके पर इनसो मीडिया इंचार्ज अपूर्व यादव ने कहा कि चौ. बंसीलाल विश्वविद्यालय लूट-खसौट की दुकान बन गई है। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति लागू करने का दावा करने वाला सीबीएलयू विद्यार्थियों के लिए सबसे अधिक परेशानी का कारण बना हुआ है। इस पर तत्काल रोक लगनी चाहिए। जो भी छात्र नेता विद्यार्थियों के हक की आवाज उठाता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है। यह लोकतंत्र का सरासर उपहास है। इस मौके पर छात्र नेता नितिन सैन ने विश्वविद्यालय प्रशासन से मांग की गई कि दिन-प्रतिदिन विद्यार्थियों की बढ़ रही समस्याओं का तत्काल समाधान हो और विद्यार्थियों को शिक्षा ग्रहण करने का अच्छा वातावरण मिले। इसका प्रयास किया जाना चाहिए, ना कि विद्यार्थियों को विद्यार्थियों को मानसिक रूप से प्रताडि़त किया जाना चाहिए।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal