सोनीपत में खाप पंचायत, बजरंग-साक्षी पहुंचे

227
SHARE

पानीपत।

रेसलर्स और WFI के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण के विवाद में आज सोनीपत में खाप पंचायत हो रही है। इसमें साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया पहुंचे। दोनों ने खाप प्रतिनिधियों को गृह मंत्री अमित शाह और खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से हुई मीटिंग के बारे में बताया। पहलवानों ने कहा कि सरकार बृजभूषण की गिरफ्तारी के लिए तैयार नहीं है। बजरंग ने कहा कि केंद्र ने 15 जून तक का समय लिया है। कोई कार्रवाई नहीं हुई तो बृजभूषण की गिरफ्तारी के लिए फिर से धरना दिया जाएगा।

वहीं साक्षी मलिक ने कहा कि मैं यह क्लियर कर देती हूं कि हम सब एक हैं। मैं, बजरंग और विनेश हम एक हैं और एक ही रहेंगे। विनेश के ना आने का रीजन है। कुछ इन्क्वायरी चल रही है।

वहीं इस मामले में अब दंगल गर्ल गीता फोगाट के पर्सनल फिजियोथैरेपिस्ट परमजीत ने बृजभूषण पर नए खुलासे किए हैं। जिसमें दावा किया कि लड़कियों को रात में बृजभूषण की सिक्योरिटी वाली गाड़ियों में बाहर ले जाया जाता था।

उन्होंने कहा कि हम शुरू से मांग कर रहे हैं कि बृजभूषण को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। वह बाहर रहेगा तो दूसरों पर प्रेशर रहेगा। पॉक्सो एक्ट वाली लड़की टूट चुकी है। धीरे-धीरे और भी लड़कियां टूट जाएंगी। हम एशियन गेम्स तभी खेलेंगे जब ये सारा मुद्दा सुलझेगा।

सोनीपत की छोटूराम धर्मशाला में पंचायत हो रही है। यहां पहुंचे बजरंग पूनिया ने कहा-”जो अमित शाह और अनुराग ठाकुर से हमारी बातचीत हुई है, वह बातें पंचायत में रखने आए हैं, क्योंकि हमने पंचायत को ही सब कुछ हैंडओवर किया हुआ है। जो फैसला बड़े बुजुर्ग लेंगे, वह पहलवानों को मान्य होगा”

महिला पहलवान को क्राइम सीन री-क्रिएट करने के लिए दिल्ली में बृजभूषण के घर पर बने भारतीय कुश्ती संघ (WFI) के ऑफिस में ले जाने पर तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने सवाल खड़े किए।

उन्होंने इसे महिला पहलवान को मानसिक आघात पहुंचाने की कार्रवाई करार देते हुए दिल्ली पुलिस पर सवाल खड़े किए। उन्होंने दिल्ली महिला आयोग (DCW) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल से घटना का तत्काल संज्ञान लेकर जिम्मेदार पुलिस अफसरों पर कार्रवाई की मांग की है। TMC के प्रवक्ता साकेत गोखले ने कहा-” पीड़िता को यौन शोषण के आरोपी के घर ले जाना चौंकाने वाला है। दिल्ली पुलिस पहलवान को डराने की कोशिश कर रही है। ये कोई हत्या का मामला नहीं, जहां क्राइम सीन री-क्रिएट कराना हो। ये सीधे तौर पर महिला पहलवान के मन में डर पैदा किया जा रहा है क्योंकि आरोपी बृजभूषण को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है।

बृजभूषण और रेसलर्स के विवाद के बीच WFI चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है। एडहॉक समिति ने मतदाता सूची एकत्र करके चुनाव कराने की दिशा में पहला कदम उठाया है। केंद्र सरकार ने चुनाव के लिए 30 जून की समय सीमा निर्धारित की है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal