23 साल बाद प्रेमिका का हत्यारा काबू

950
SHARE

सोनीपत।

 प्रेमिका की हत्या कर फरार हुए सुरेंद्र उर्फ पहलवान को CIA-1 ने 23 साल बाद गिरफ्तार किया है। पुलिस ने उसे मोस्ट वांटेड करार देकर उसकी गिरफ्तारी पर 25 हजार रुपए का इनाम रखा था। उसे 18 अगस्त 2000 को कोर्ट ने भगोड़ा करार दिया था। पुलिस ने अब उसे कोर्ट में पेश कर 2 दिन के रिमांड पर लिया है।

बताया गया है कि मूल रूप से यूपी के औरैया जिले के गांव निगड़ा का रहने वाला सुरेंद्र सिंह उर्फ पहलवान वर्ष 2000 में सोनीपत के कुंडली में किराए के मकान में रहता था। उसके कमरे के पास यूपी के जालौन जिले के गांव कैरिया निवासी नरेश कुमार अपनी पत्नी सुधा के साथ रह रहा था। दोनों फैक्टरी में काम करते थे। सुरेंद्र उर्फ पहलवान का सुधा के साथ प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। इसके साथ ही दोनों में अवैध संबंध भी बने।

सोनीपत पुलिस के ACP जीत सिंह ने बताया कि सुरेंद्र और सुधा के अवैध संबंध थे। जनवरी 2000 में दोनों के बीच किसी बात को लेकर मन मुटाव हो गया। सुरेंद्र उर्फ पहलवान इसके बाद अपनी प्रेमिका सुधा को चाकू से वार कर मौत के घात उतार दिया। सुधा के मर्डर के बाद वह मौके से फरार हो गया। पुलिस ने सुधा की हत्या पर राई थाना में 11 जनवरी 2000 को धारा 302 के तहत मुकदमा नंबर 12 दर्ज किया था।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal