नाबालिक ने दी थी ट्रेन में बम होने की छूठी सुचना, बाल सुधार गृह भेजा

514
SHARE

रोहतक।

पानीपत से रोहतक आ रही ट्रेन में बम होने की सूचना देने वाला 14 वर्षीय नाबालिग निकला। उसकी मां की 2021 में मौत हो गई थी। जबकि पिता सब्जी बेचकर घर का गुजारा चलाता है। घर में बाप-बेटा ही रहते हैं। मां का फोन घर पर ही रखा हुआ था। इस पर उसने पिता से सिम दिलाने की जिद्द की। इस पर पिता ने एक दिन पहले ही उसे नई सिम लाकर दी थी।

जांच में सामने आया कि जब बच्चे ने सिम को फोन में डालकर एक्टिवेट किया तो उसमें रेलवे इंक्वायरी का नंबर 139 था। उसने खेल-खेल में रेलवे इंक्वायरी के नंबर पर फोन मिला दिया। जब सामने से बातचीत हुई तो भाषा चुनने के लिए कहा, जिसके बाद उसने हिंदी भाषा चुन ली। इसके बाद फोन पर रेलवे इंक्वायरी वालों ने कहा कि हम क्या मदद कर सकते हैं। जिसके बाद उसने कहा कि जींद से रोहतक वाया पानीपत आने वाली ट्रेन में बम है।

उसकी बुआ की शादी भी पानीपत के एक गांव में हो रखी है। इसलिए वह इस रूट पर आता-जाता रहता था। जिसके कारण उसने इसी ट्रेन का नाम पता था और इसी ट्रेन में बम होने की सूचना रेलवे इंक्वायरी को दे दी।

शुक्रवार को फोन के माध्यम से सूचना मिली थी कि जींद से रोहतक वाया पानीपत आने वाली ट्रेन में बम है। जिसकी सूचना मिलते ही जीआरपी पुलिस, आरपीएफ, बम डिस्पोजल टीम व रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे।

जब तक रेल गाड़ी गोहाना पहुंच चुकी थी। गोहाना में रोककर ट्रेन की चेकिंग की गई। चेकिंग के दौरान ट्रेन में कोई बम नहीं मिला। इधर, सूचना झूठी पाए जाने के कारण जीआरपी ने झूठी सूचना देने वाले के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने, रेलवे एक्ट सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी थी।

ASI राजेश कुमार ने बताया कि रेल में बम होने की सूचना के बाद टीमों ने ट्रेन की चेकिंग की, लेकिन उसमें बम नहीं मिला। जिसके बाद सूचना देने वाले की तलाश शुरू की। नंबर ट्रेस करने पर सूचना देने वाला झज्जर जिले के एक गांव का करीब 14 वर्षीय नाबालिग निकला। जिसे अंबाला के सुधार गृह में भेज दिया है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal