मां ने 2 वर्षीय बेटे की हत्या कर शव नहर में फेंका

150
SHARE

नारनौल।

सुराना गांव से सोमवार दोपहर बाद संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुए 2 साल के बच्चे के शव के अवशेष नहर से बरामद हुए हैं। पुलिस ने बुधवार को दिनभर नहर में सर्च अभियान चलाने के बाद देर शाम पंप हाउस से बच्चे के शव के कुछ हिस्से और टी-शर्ट बरामद किए। पारिवारिक कलह के चलते मां ने बच्चे काे नहर में फेंक दिया था। डीएसपी रणबीर सिंह ने गुरुवार शाम को इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि पूछताछ के दौरान बच्चे की मां दीपेश ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। दीपेश के अनुसार पारिवारिक कलह के चलते उसने अपने 2 साल के बेटे को मार कर नहर में फेंक दिया था। बाद में घर आकर डर के मारे उसने प्रतीक के लापता होने की बात परिजनों को बताई थी। परिजनों से शव की पहचान करवाने के बाद बच्चे की मां दीपेश को गिरफ्तार कर लिया गया है।

पत्रकार वार्ता में डीएसपी ने बताया कि गांव सुराना से सोमवार दोपहर बाद घर से 2 साल का बच्चा संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया था। बच्चे के लापता होने के बाद सुराना निवासी दयाराम ने पुलिस में इस संदर्भ में शिकायत देकर मामला दर्ज कराया था। दयाराम ने पुलिस को दी अपनी लिखित शिकायत में बताया था कि उसके पोते प्रतीक को उसकी मां ने दूध पिलाकर कमरे में सुला कर वह अपने काम में लग गई थी। करीब 15-20 मिनट बाद वह वापस कमरे में आयी तो उसका पोता कमरे से लापता था। घर पर तथा आस-पड़ोस में तलाश करने के बाद भी बच्चे का कोई सुराग नहीं लगा। पुलिस ने दयाराम की शिकायत पर मामला दर्ज कर बच्चे की तलाश शुरू की थी, परंतु कोई सुराग नहीं लग सका। इसके बाद मंगलवार शाम को जब पुलिस ने बच्चे की मां को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि वह बच्चे को लेकर शौच के लिए नहर की तरफ गई थी। इस दौरान वह बच्चे को बैठा कर शौच के लिए चली गई। इस दौरान उसका बच्चा खेलते-खेलते नहर में गिर गया। इसके बाद मामले में नया मोड़ आने पर पुलिस ने रात को गोताखोर बुलाए। गोताखोर के पहुंचने के बाद पुलिस ने बुधवार को गांव सुराना के निकट नहर में सर्च अभियान चला कर बच्चे को खोजा।

पुलिस बुधवार को दिन भर नहर में सर्च अभियान चला कर बच्चे के शव को पानी में खोजती रही, परंतु शाम तक लापता बच्चे का कोई सुराग नहीं लग सका। इसके चलते पुलिस ने हार न मानते हुए आगे भी सर्च अभियान जारी रखने का निर्णय लिया। सर्च अभियान में देर शाम पुलिस को नहर के पंप हाउस से बच्चे के शरीर के कुछ हिस्से मिले और टी-शर्ट मिली। टी-शर्ट के आधार पर परिजनों ने बच्चे के पहचान की। इसके बाद पुलिस द्वारा की गई जांच-पड़ताल में सामने आया कि बच्ची की मां ने ही अपने बेटे को मारकर नहर में फेंक दिया था। इसके बाद पुलिस ने दीपेश को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो महिला ने बताया कि उसने अपने बेटे को मारकर नहर में फेंक दिया था और फेंक कर अपने घर आ गई थी। अपना गुनाह कबूल करने के बाद पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। ज्ञात रहे कि दीपेश की शादी 2018 में गांव सुराना निवासी पंकज से हुई थी। उनके 2 साल का प्रतीक इकलौती संतान था, परंतु घर का इकलौता चिराग पारिवारिक कलह की भेंट चढ़ गया।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal