सांसद धर्मबीर सिंह ने वीसी के माध्यम से अधिकारियों व चिकित्सकों को दिए निर्देश

140
SHARE
DJL04E d·F½FF³Fe : ÀFFÔÀFQ ²F¸FʶFeS dÀFÔWÜ ªFF¦FS¯FÜ

पीएचसी, सीएचसी एवं एसडीएच की प्रगति की समीक्षा
संसाधनों की कमीं पूरी करने के लिए मांगी रिपोर्ट
भिवानी हलचल 25 मई।
www.bhiwanihalchal.com
भिवानी-महेन्द्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र से सांसद धर्मबीर सिंह ने कहा कि कोविड-19 की तीसरी लहर को संभावित मानकर जिला के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, उपमंडल एवं जिला मुख्यालय पर स्थित अस्पतालों में पर्याप्त मात्रा में संसाधनों की समुचित व्यवस्था करनी होगी। स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों को अपने-अपने क्षेत्रों की संसाधनों से संबंधित रिपोर्ट शीघ्र देने के निर्देश दिए ताकि जिस सामान/संसाधनों की कमीं है उसे शीघ्र पूरा करवाया जा सकें।
सांसद धर्मबीर सिंह मंगलवार को प्रात: वर्चुवल वीसी के माध्यम से जिला के उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य एवं स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों के साथ कोविड-19 को लेकर समीक्षा बैठ ले रहे थे। उन्होंने कहा कि संक्रमण के दृष्टिगत चिकित्सा संस्थानों में संसाधनों एवं दवाईयों की उपलब्धता बारे पूरी जानकारी दे ताकि आवश्यकतानुसार सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आक्सीजन सिलेंडर का भी प्रबंध किया जाए ताकि मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। जिला के कई स्वास्थ्य केंद्रों में लाईट की समुचित व्यवस्था न होने के कारण चिकित्सकों एवं मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्होंने बिजली निगम के अधिकारियों को शीघ्र प्राथमिक एवं सामुदायिक केंद्रों में जहां पर लाईट की समस्या है, उसे दुरूस्त करने के निर्देश दिए हैं।
सांसद ने कहा कि उन्होंने जिला के लोगों के लिए जो आक्सीजन के सिलेंडर भिजवाए है वे आवश्यकतानुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा अस्पतालों में शीघ्र भेजे जाए ताकि जरूरतमंद रोगियों को आक्सीजन की आपूर्ति की जा सकें। कोविड संक्रमण की जांच रिपोर्ट के आने में काफी समय लगता है, जिसके कारण संक्रमित व्यक्ति को परेशानी होने के साथ-साथ संक्रमण के फैलने का भी खतरा बना रहता है। इसलिए आरटीपीसीआर की रिपोर्ट जांच से अगले दिन आ जानी चाहिए। उन्होंने उपायुक्त श्री आर्य एवं वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. संध्या गुप्ता के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा एसडीएच के प्रभारी चिकित्सकों के साथ कोविड-19 के संबंधित केंद्रों में संक्रमण से प्रभावित कितने रोगी आए, कितने दाखिल हुए, कितने मरीज ठीक हुए तथा कितने रोगियों की मृत्यु हुई से संबंधित विस्तार से जानकारी प्राप्त की।
भिवानी-महेन्द्रगढ़ लोकसभा क्षेत्र से सांसद धर्मबीर सिंह ने कहा कि वर्तमान में जो कमियां रही है, उनको दूर करने के लिए जिला के प्रशासनिक अधिकारियों एवं स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों को कारगर कदम उठाने होगें ताकि भविष्य में किसी प्रकार की परेशानी ना हो। कोविड-19 को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाए। उन्होंने कोविड-19 के दौरान स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों एवं स्टाफ द्वारा किए गए कार्य की प्रंशसा करते हुए कहा कि भविष्य और अधिक सजगता से कार्य करे ताकि जरूरतमंद लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं सुलभ हो सकें।
बाक्स
उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने बताया कि संक्रमण के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन लोगों की जांच एवं वैक्सीन लगाने का कार्य किया जा रहा है। जो व्यक्ति होम आईसोलेट तथा ग्राम स्तर पर स्थापित आईसोलेशेन सेंटरों में उपचाराधीन है, उन्हें कोविड किट, मैडीसन एवं आक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं अस्पतालों में चिकित्सकों की टीमें एवं नोडल अधिकारी समय-समय पर निरीक्षण करके रिपोर्ट जिला मुख्यालय पर भिजवा रहें हैं। उन्होंने कहा कि जिला में आक्सीजन की कोई कमी नहीं है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोगियों को आक्सीजन की डिलिवरी जिला रेडक्रास सोसायटी के वॉलेंटीयर के माध्यम से भेजी जा रही है। उन्होंने जिला के सभी चिकित्सकों को निर्देश दिए कि अगर किसी व्यक्ति को तीन या चार दिन से बुखार/गंभीर स्थिति या आक्सीजन लेवल कम है तो उसे बिना किसी देरी के एंबूलेंस के माध्यम से जिला मुख्यालय पर स्थित सरकारी अस्पताल में लाया जाए ताकि उसका उपचार करके उसकी जान बचाई जा सकें। उन्होंने बताया कि जिला के सभी एसडीएम को भी निर्देश दिए गए है कि वे अपने-अपने अधीनस्थ क्षेत्रों में नियमित रूप से स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रदत्त की जा रही सुविधाओं का जायजा ले और प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट जिला मुख्यालय पर भेजना सुनिश्चित करें।