भिवानी की जनता को 9 साल की उपलब्धियो का लेखा जोखा दे सांसद धर्मबीर सिंह !

562
SHARE

भिवानी हलचल।
मोदी सरकार 9 साल पूरे होने पर केंद्र सरकार की उपलब्धियां बताने जा रही है।
या यूं कहें कि उपलब्धि जनता तक पहुंचाने की तैयारी हो रही है।
इसी कड़ी में सांसद धर्मबीर सिंह को भी भिवानी की जनता के सामने 9 साल की उपलब्धि बतानी चाहिए।
सबसे छोटी पंचायत,ग्राम पंचायत में पंच से राजनीति की शुरुआत करने वाले धर्मबीर सिंह माने जाते हैं। लोकतंत्र की सबसे बड़ी पंचायत में दूसरी बार बीजेपी से सांसद हैं।
भिवानी-महेंद्रगढ़ क्षेत्र से दूसरी बार प्रतिनिधित्व कर रहे धर्मबीर सिंह से जनता अचीवमेंट पूछना चाहती है।
जनता के अधिकांश मत पर गौर किया जाए तो सांसद धर्मबीर सिंह पिछले 9 वैर्षों में लोकसभा क्षेत्र में कोई ऐसा जादू नही कर पाए जिससे कि बेरोजगारी दर में कमी आई हो। राष्ट्रीय सड़क निर्माण व रेलवे के कुछ काम मतलब कुछ कामों को एक तरफ कर दिया जाए तो कोई बड़ी उपलब्धि नजर नही आ रही है।
भिवानी जिले की बात करें तो यहां कोई ऐसा कारक दिखाई नही दिया जिससे बेरोजगारी दर कम हुई हो या कम होने के आसार बने हों,व्यापार में बढ़ोतरी हुई हो,कोई नया कारखाना स्थापित हुआ हो।
यदि भविष्य के गर्भ में कुछ है भी तो जनता जानना तो चाहती ही है।
यदि सड़क,रेल के कुछ कामों को एक तरफ कर दिया जाए तो सांसद की उपलब्धि शायद ही दहाई का आंकड़ा छू पाए। यहां तक कि सरकार की पहल पर जो गांव गोद लिए गए थे, जिसमें सांसद भी शामिल थे,उन गांवों की कायापलट हो पाई या नही ?
लोगों का तो यहां तक कहना है कि गोद लेने से पहले ही हालात अच्छे थे,अब बदतर हालात में हैं वो गांव। लोगो का कहना है कि भविष्य के लिए यदि उपलब्धि तैयार हुई हैं या होने जा रही हैं तो पता भी होना चाहिए। यह भी ज्ञात होगा कि 26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद की शपथ ली थी।इस सफर में मोदी सरकार की क्या उपलब्धियां रही हैं, इसको बताने की जिम्मेदारी अब केंद्रीय मंत्रियों के हाथ में दी गई है।
29 मई को देशभर में एक साथ केंद्रीय मंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस कर शुरुआत कर चुके हैं।
इन 9 वर्षों के सफर को यादगार बनाने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने एक मेगा प्रचार की योजना बनाई है। इसमें केंद्र सरकार के कामकाज और 9 साल की उपलब्धियों को जनता तक पहुंचाया जाएगा।
इसकी शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 31 मई को राजस्थान के अजमेर की रैली से शुरू हुई है। 31 मई से 30 जून तक चलने वाले इस विशेष अभियान में पार्टी ने देश के अलग अलग हिस्सों में करीब 51 बड़ी जनसभाएं करने की योजना तैयार की है।
सवाल ये है कि मरुस्थल को टच करने वाले व पिछड़े जिलों में शामिल भिवानी जिले का उदार हो पायेगा या नही। सांसद साहब आपके प्रयासों से आने वाले समय में इस पिछड़े इलाके की सुध ली जाएगी या गर्त में ही नजर आएगा भिवानी ।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal