नायब तहसीलदार रिश्वत लेते काबू

533
SHARE

 महेन्द्रगढ़ जिले में सतनाली कस्बा के नायब तहसीलदार अमित कुमार की गिरफ्तारी के बाद कुछ कर्मचारी भी विजिलेंस के रडार पर है। विजिलेंस ने इस मामले में 4 जनवरी को ही केस दर्ज किया था, लेकिन इसकी भनक किसी को नहीं लगी। उसके बाद से ही विजिलेंस नायब तहसीलदार को रंगे हाथों पकड़ने के लिए जुटी हुई थी। मंगलवार को 14 हजार की रिश्वत के साथ उसे ऑफिस से ही गिरफ्तार किया गया। बुधवार को नायब तहसीलदार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। सतनाली कस्बा निवासी एडवोकेट व जिला कष्ट निवारण समिति सदस्य बलबीर सिंह शेखावत ने शिकायत देकर बताया था कि सतनाली उप तहसील कार्यालय में रिश्वत का खेल चल रहा है। इसमें नायब तहसीलदार भी शामिल है। एडवोकेट ने विजिलेंस को बताया कि जमीन से संबंधित एक मामले में भी नायब तहसीलदार द्वारा रिश्वत की मांग की जा रही है तथा रिश्वत न देने पर काम को नहीं किया जा रहा।

उन्होंने आरोप लगाया कि पहले भी एक जमीन की रजिस्ट्री के मामले में रजिस्ट्रेशन क्लर्क व नायब तहसीलदार को 40 हजार बतौर रिश्वत देने पड़े थे तथा नायब तहसीलदार व रजिस्ट्रेशन क्लर्क के बीच हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी उनके पास है। शिकायतकर्ता ने अंदेशा जताया था कि उनकी एक और रजिस्ट्री उप तहसील कार्यालय में होनी है जिसके लिए नायब तहसीलदार व रजिस्ट्रेशन क्लर्क द्वारा रिश्वत की मांग की जा सकती है। शिकायत मिलने के बाद विजिलेंस टीम का गठन किया गया तथा बिजली निगम के कार्यकारी अभियंता बुधराम को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया।

मंगलवार दोपहर बाद विजिलेंस की टीम ने 14 हजार रुपएशिकायतकर्ता को दिए। शिकायतकर्ता द्वारा पैसे देने का इशारा मिलते ही विजिलेंस की टीम ने कार्रवाई करते हुए नायब तहसीलदार अमित कुमार को रंगे हाथों काबू कर लिया। विजिलेंस की टीम ने ड्यूटी मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में पूरी कार्रवाई को अंजाम दिया। आरोपी नायब तहसीलदार को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। विजिलेंस सूत्रों के अनुसार रिश्वत के इस मामले में कुछ अन्य कर्मचारियों को भी पूछताछ के लिए तलब किया जाएगा।

 

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे

Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal