सरपंचों पर रात में एक्शन,पुलिस ने उखाड़े तंबू

122
SHARE

चंडीगढ़।

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के निर्देश पर ई-टेंडरिंग का विरोध कर रहे सरपंचों पर पंचकूला पुलिस ने रात में एक्शन किया। मुख्य मार्ग पर सरपंचों के पक्के धरने में लगे प्रदर्शनकारियों के तंबू उखाड़कर पुलिस ने करीब 80 घंटे बाद शनिवार देर रात रास्ता बहाल कराया।

इस दौरान सरपंचों ने पुलिस की कार्रवाई का जमकर विरोध किया। पुलिस ने हिरासत में लेते हुए उन्हें देर रात रिहा कर दिया। अब सरपंचों की 9 मार्च को मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बात होगी।

सरपंच एसोसिएशन के प्रधान रणवीर सिंह समैण ने पंचकूला पुलिस की इस कार्रवाई पर विरोध जताया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल से वार्ता यदि विफल हो जाती है तो 11 मार्च को सभी सरपंच अपनी मांगों को लेकर CM सिटी करनाल के लिए कूच करेंगे। वहां वह मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब उनकी मांगों को माना नहीं जाता आंदोलन जारी रहेगा।

सरपंचों के धरने को उठाने के लिए लगभग रात आठ बजे पंचकूला पुलिस पहुंची। जहां लगभग 1 घंटे की वार्ता के बाद जब सरपंच नहीं माने तो पुलिस ने जबरन तंबू उखाड़ने शुरू किए। एक घंटे मशक्कत करने के बाद सरपंच विरोध करने लगे, इसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया और दो बसों में भरकर थाने ले गए, जहां कुछ घंटे हिरासत में रखने के बाद उन्हें देर रात रिहा कर दिया।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal