बॉक्सिंग की चयन प्रक्रिया पर भी उठे सवाल

85
SHARE

भिवानी ।

इंटरनेशनल बॉक्सर और ओलंपियन विजेंद्र कुमार और अन्य मुक्केबाजों ने एशियन गेम्स की चयन प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं। साथ ही चयन प्रक्रिया में शामिल 2 विदेशी ट्रेनरों पर पक्षपात करने के आरोप लगाए हैं।

द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच जगदीश कुमार, ओलंपियन विजेंद्र की अगुवाई में 92 किलोग्राम के प्रतिभागी सागर अहलावत, 57 किलोग्राम के प्रतिभागी रोहित मोर व 51 किलोग्राम भार वर्ग के अमित पंघाल ने संयुक्त पत्रकार वार्ता कर बगैर ट्रायल के चयन करने पर ऐतराज जताया है। उन्होंने कहा कि 23 सितंबर से एशियन मुक्केबाजी प्रतियोगिता चीन के जोंगजू शहर में आयोजित होनी है।

चयन प्रक्रिया पहले ट्रायल बेस व खिलाड़ी के पीछे की जीती हुई प्रतियोगिताओं के आधार पर तय होती थी, लेकिन अब नए मनमाने नियम बनाकर 8 पॉइंटों के आधार पर चयन प्रक्रिया अपनाई गई है, जिसको लेकर उन्हें ऐतराज है। नई चयन प्रक्रिया में खिलाड़ियों की हाजिरी, उनके उठने व सोने का समय, खिलाड़ियों का वजन सहित ऐसे मापदंडों को अपनाया गया है, जिससे खेल का बहुत सीधा ताल्लुकात नहीं है।

विजेंद्र कुमार ने कहा कि उन्होंने देश के लिए मुक्केबाजी में पहला पदक प्राप्त किया है, लेकिन कभी भी बॉक्सिंग फेडरेशन ने उन्हें चयन प्रक्रिया के नियमों को बनाने, उन्हें बदलने या मुक्केबाजी के उत्थान के लिए किसी कार्यक्रम में नहीं बुलाया, जबकि उनका मुक्केबाजी को लेकर देश में अहम योगदान रहा है ।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal