हरियाणा के 6 जिलों में बारिश का अलर्ट

16
SHARE

चंडीगढ़।

हरियाणा में मौसम बदला हुआ है। सूबे के अधिकांश जिलों में बादल छाए हुए हैं। बारिश के साथ तेज हवा चलने से दिन के अधिकतम तापमान में 2 डिग्री की गिरावट हुई है, इससे लोगों ने गर्मी से राहत की सांस ली है। सबसे अहम बात यह है कि अप्रैल में अधिकतम तापमान में यह गिरावट सामान्य से 4 डिग्री कम है। खराब मौसम को देखते हुए मौसम विभाग की ओर से 6 जिलों में यलो अलर्ट जारी किया है।

इनमें चंडीगढ़ के अलावा पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल शामिल हैं। यहां गरज-चमक के साथ बारिश होने के आसार हैं। साथ ही 30 से 40 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवा चलने की संभावना है।

इसलिए हो रहा मौसम में बदलाव

हरियाणा में एक और पश्चिमी विक्षोभ सोमवार को एक्टिव हुआ है, जिसके असर से प्रदेश के उत्तरी व उत्तर पश्चिमी जिलों में बूंदाबांदी हो रही है। मौसम विशेषज्ञ डॉ. मदन खीचड़ ने बताया कि इसके अलावा कहीं-कहीं आंशिक रूप से बादल छा सकते हैं। इसके बाद 30 अप्रैल से 2 मई तक मौसम शुष्क व साफ रहेगा और तापमान में बढ़ोतरी होगी। इस दौरान दिन का तापमान 42 से 43 डिग्री तक पहुंच सकता है। इससे लोगों को गर्मी का एहसास होगा।

आगे कैसा रहेगा मौसम

मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि हरियाणा में एक बार फिर तीन मई को एक और विक्षोभ एक्टिव होने के आसार दिख रहे हैं। हालांकि अप्रैल के मुकाबले इस विक्षोभ के कमजोर होने के कारण सिर्फ आंशिक रूप से बादलवाही ही रहेगी। इसका असर 4 मई तक रहेगा। इसके बाद दोबारा से तापमान बढ़ना शुरू हो जाएगा। वहीं, सोमवार को पश्चिमी विक्षोभ के असर से पंचकूला, अंबाला और चंडीगढ़ में बूंदाबांदी हुई। बाकी जिलों में मौसम साफ रहा या हल्के बादल छाए रहे।

बारिश से खराब हो रहा अनाज

हरियाणा में खेतों में अभी गेहूं की कटाई चल रही है। अनाज मंडी में उठान धीमा होने के कारण मंडी में खुले आसमान के नीचे सरसों और गेहूं की फसल पड़ी है। पिछले चार दिनों से हो रही बूंदाबांदी से फसल के खराब होने का डर है। इससे किसान चिंतित है। कारण है काफी फसल ऐसी है जो अभी तक बिकी नहीं है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे ubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal