हरियाणा के किसानों को के्रडिट कार्ड के 924 करोड़ रूपये बांटे:राज्यपाल

152
SHARE

भिवानी में तीन दिवसीय पशुधन प्रदर्शनी का शानदार शुभारंभ
दूध उत्पादन में हरियाणा को लाएंगे पहले नंबर पर:जेपी दलाल
पशुओं की मनोहारी नस्लें दर्शकों को कर रही आकर्षित
बाली शर्मा, शम्मी आदि कलाकारों ने किया भरपूर मंनोरजन

भिवानी

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान कार्यक्रम के दौरान हरियाणा प्रदेश के 25 हजार जरूरतमंद परिवारों की आमदनी में वृद्धि के लिए पशुपालन विभाग व कृषि विभाग की डेयरी, मत्स्य पालन, शुकर पालन आदि स्कीमों से जोड़ा जाएगा। राज्य सरकार ने पशुधन क्रेडिट कार्ड व किसान के्रडिट कार्ड में अब तक 924 करोड़ की राशि वितरित कर दी है। केंद्र व प्रदेश सरकार प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अगुवाई में किसानों की उन्नति व खुशहाली के लिए प्रतिबद्ध है।
भिवानी के हुडा सैक्टर-13 के सामने मैदान में कृषि, पशुपालन एवं डेयरी विभाग, पशुधन विकास बोर्ड, मत्स्य पालन विभाग के तत्वावधान में आयोजित 38 वीं राज्यस्तरीय पशुधन प्रदर्शनी का शुभारंभ करते हुए प्रदेश के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने ये शब्द कहे। जय हिंद, जय किसान और जय हरियाणा के उद़् घोष से राज्यपाल ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में 65 प्रतिशत योगदान कृषि क्षेत्र का है। कोविड-19 के समय जब पूरा देश लॉकडाउन का सामना कर रहा था, उस समय हमारा किसान खेती और पशुओं की सेवा में जुटा हुआ था। किसानों ने महामारी के समय भी अपना काम कभी बंद नहीं किया और पशुपालन व खेती का काम अनवरत जारी रखा। जिसकी बदौलत आज हमारा प्रदेश और देश खाद्यान्न की दृष्टि से आत्मनिर्भर है।
राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  और मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गांव के विकास पर सबसे अधिक जोर दिया है। महात्मा गांधी ने भी कहा था कि गांव बचेगा तो देश बचेगा और गांव जिंदा रहेगा तो देश जिंदा रहेगा। श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा के मेहनती किसानों ने अपने इलाके का मान कृषि, खेल, उद्योग, शिक्षा आदि हर क्षेत्र में राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाया है। हमारे किसान देशां में देश हरियाणा जित दूध दही का खाना कहावत को चरितार्थ कर रहे हैं। हरित क्रांति में भी हमारे किसानों का अहम योगदान रहा है। उन्होंने कहा हरियाणा देश का पहला राज्य है जो कि 14 फसलों का समर्थन मूल्य किसानों को दे रहा है। इसके अलावा प्रदेश में किसानों की भलाई के लिए भाव भावांतर भरपाई स्कीम, मेरा पानी-मेरी विरासत योजना को भी कृषि हित में चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि भू-जलस्तर में सुधार के लिए किसानों को सिंचाई की नई तकनीकों का प्रयोग करना होगा। तेलंगाना राज्य के मूल निवासी राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि देशी साहीवाल और मुर्राह नस्ल की गाय-भैंस को हैदराबाद के लोग भी हरियाणा से लेकर जाते हैं।
राज्यपाल ने भिवानी में वर्ष 1997 के बाद आयोजित की जा रही 38 वीं प्रदेशस्तरीय पशुधन प्रदर्शनी का भव्य आयोजन करवाने के लिए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल और उनकी टीम को बधाई दी। इससे पहले देवी सरस्वती के आगे दीप प्रज्ज्वलित कर राज्यपाल ने इस शानदार कार्यक्रम का आगाज किया।
कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि प्रदेश में 1142 ग्राम प्रति व्यक्ति के हिसाब से दूध का उत्पादन हो रहा है। पंजाब के बाद हरियाणा सबसे अधिक दूध का उत्पादन करता है। वह दिन दूर नहीं, जब विकासशील व वैज्ञानिक सोच के साथ प्रदेश को दूध उत्पादन में पहले स्थान पर लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दुधारू पशुओं की नस्ल को और बेहतर बनाने के लिए कृषि एवं पशुपालन विभाग की ओर से प्रदेश स्तर पर यह शानदार आयोजन किया गया है।
विशाल पांडाल में उपस्थित हजारों किसानों को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि वे हरियाणा के किसानों को हृदय से प्रणाम करते हैं। किसानों ने न केवल देश की आर्थिक ताकत को मजबूत किया है, बल्कि अनाज उत्पादन में उल्लेखनीय कार्य किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वैक्सीनेशन का तीव्र गति से अभियान चलाया और 80 करोड़ लोगों को नि:शुल्क राशन बांटा। कृषि मंत्री ने कहा कि तीन दिवसीय आयोजन के दौरान केंद्रीय कृषि मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला व मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल भी भिवानी आएंगे।
कृषि मंत्री ने कहा कि यहां पर पशुओं की उत्तम नस्ल प्रदर्शित की गई हंै, मनोरंजन के लिए प्रदेश के सुप्रसिद्ध कलाकारों को बुलाया गया है और किसानों को नवीनतम जानकारी देने के लिए प्रदर्शनी लगाई गई है। प्रदर्शनी के दौरान लाखों रुपए के पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में एक लाख से अधिक किसान भाग लेंगे। उन्होंने भिवानी आगमन पर महामहिम राज्यपाल का आभार व्यक्त किया। कृषि मंत्री ने स्मृति चिन्ह व शॉल ओढ़ाकर राज्यपाल को सम्मानित किया।
पशुपालन विभाग के वित्तायुक्त एवं प्रधान सचिव पंकज अग्रवाल ने कहा कि हरियाणा के पशुओं की नस्ल में सुधार के लिए कृत्रिम गर्भाधान को बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकार ने कृत्रिम गर्भाधान का शुल्क 500 रूपए से घटाकर दो सौ रूपए निर्धारित कर दिया है। मुंहखुर व गलघोटू बीमारी का एक ही टीका लगाने वाला हरियाणा देश का प्रथम राज्य है। राज्य में 52 लाख पशुओं को मुंहखुर व ब्रूसेला रोग की 48 लाख वैक्सीन दी गई है। पशुपालन विभाग के महानिदेशक डा. बीरेंद्र सिंह लौरा ने कहा कि पशुपालन को लाभकारी व प्रमुख व्यवसाय बनाने के उद्देश्य से यह प्रदर्शनी लगाई गई है। उन्होंने कहा कि पशुचिकित्सा सुलभ करवाने के लिए 70 और मोबाइल वैन चलाई जाएंगी।
हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के प्रबंध निदेशक डा. एसके बागोरिया ने सभी अतिथिगण का आभार प्रकट किया। शुभारंभ समारोह में भिवानी के विधायक घनश्याम दास सर्राफ, पशुधन विकास बोर्ड के चेयरमैन व पूंडरी के विधायक रणधीर गोलन, युवा आयोग के चेयरमैन मुकेश गौड़, मत्स्य पालन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अशोक खेमका, लुवास के कुलपति डा. विनोद वर्मा, भाजपा के संगठन मंत्री रविंद्र राजू, उपायुक्त आरएस ढिल्लो, पुलिस अधीक्षक अजीत सिंह शेखावत, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल, एसडीएम महेश कुमार, भाजपा जिलाध्यक्ष शंकर धूपड़ सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।
————–