प्रदेश की बेहतर खेल नीति से ही खिलाड़िय लाते है अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सर्वाधिक मेडल:कृषि मंत्री जेपी दलाल

48
SHARE
परंपरागत खेल हमारी संस्कृति के अभिन्न अंग,सरकार दे रही है उन्हे बढ़ावा
आजादी के अमृत महोत्सव के 75 वें साल में सारा देश एकमत होकर मतभेद भुलाकर देश की उन्नति व प्रगति के लिए करे कार्य ताकि भारत पूरे विश्व की ताकत बन सके
कृषि मंत्री जेपी दलाल का ढोल-नगाड़ों के साथ हुआ भव्य स्वागत
भिवानी हलचल बहल 24 दिसम्बर। www.bhiwanihalchal.com प्रदेश के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि हरियाणा सरकार की बेहतर खेल नीति के परिणामस्वरूप हरियाणा के खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ओलंपिक सहित विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वाधिक मेडल प्राप्त करने का काम किया। कबड्डी, कुश्ती आदि परंपरागत खेल हमारी संस्कृति के अभिन्न अंग है। युवाओं को इन खेलों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए। कृषि मंत्री श्री दलाल शुक्रवार को बहल खेल स्टेडियम में आयोजित पंजाब व हरियाणा कबड्डी महाकुंभ में बतौर मुख्य अतिथि विशाल जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी एवं द्रोणाचार्य अवॉर्डी तथा चीफकोच हसन कुमार सांगवान कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि थे। हरियाणा व पंजाब के कबड्डी महामुकाबले में महिला टीम में हरियाणा की राम भतेरी टीम प्रथम स्थान पर रही और एक लाख 51 हजार का नगद पुरस्कार प्राप्त किया। दूसरे स्थान पर पंजाब की सूखी टीम रही जिसे एक लाख एक हजार का नगद पुरस्कार दिया गया। महिलाओं में सुमित मतलोढा तृतीय स्थान पर रही जिसको 51 हजार का पुरस्कार दिया गया । इसी प्रकार हरियाणा व पंजाब लड़कों के महामुकाबले में हरियाणा की टीम प्रथम स्थान पर रही और पंजाब की टीम द्वितीय स्थान पर रही। हरियाणा की टीम को एक लाख 51 हजार और पंजाब की टीम को एक लाख एक हजार का पुरस्कार कृषि एवं पशुपालन मंत्री जयप्रकाश दलाल के कर कमलों से प्रदान किया गया।
कृषि मंत्री ने कहा कि हरियाणा की खेल नीति पूरे देश में सबसे अव्वल है। ओलंपिक में गोल्ड मैडल लाने वाले खिलाड़ी को छह करोड़ रुपये केवल हरियाणा ही देता है। यही कारण है कि ओलंपिक में हरियाणा ने देश के अन्य राज्यों के मुकाबले अधिक मैडल जीते हैं।
कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के 75 वें साल में सारा देश एकमत होकर, आपसी मतभेद भुलाकर देश की उन्नति व प्रगति के लिए कार्य करे, ताकि भारत पूरे विश्व की एक शक्ति के रूप में उभर कर सामने आए। उन्होंने युवाओं से आह्वान किया कि वे देश का नाम रोशन करने के लिए कार्य करें।, कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि वीर शहीदों की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी हमारा फर्ज बनता है आने वाली पीढ़ी को उनकी जानकारी दें ताकि युवा उनसें आने प्रेरणा ले ,75वे साल में खुशी-खुशी सारा देश एक होकर मतभेद भुलाकर हमें प्रयास करना चाहिए दुनिया मे भारत सबसे बड़ी ताकत बने। कृषि मंत्री ने चेहड़ खुर्द, पातवान, सुरपुरा सहित गांव के प्रतिभावान खिलाड़ियों को 51- 51 हजार रुपये व चारों गांवों में खेल सामान के लिए पांच- पांच लाख रुपये देने की घोषणा की। कृषि मंत्री ने कहा कि सरकार खिलाडिय़ों को बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर देकर उनका संरक्षण करती है। परिणाम स्वरूप इस छोटे से प्रांत के खिलाड़ी विश्व स्तर पर प्रदेश का नाम रोश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार का एकमात्र लक्ष्य इस प्रदेश को खेलों का हब बनाना है। उन्होंने कहा कि देश के अन्य कई राज्य भी अपने यहां खेल नीति लागू करने के लिए हरियाणा की खेल नीति को आधार बना रहे हैं। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार कबड्डी, कुश्ती जैसे परंपरागत खेलों को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि परंपरागत खेल हमारी संस्कृति के अभिन्न अंग है इसलिए युवाओं को परंपरागत खेलों में बढ़-चढ़कर भाग लेना चाहिए।सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभाओं को निखारने के लिए खेल स्टेडियम बना रही है। उन्होंने कहा कि जरूरतमंद गांवों में खेल स्टेडियम, व्यायामशालाओं का निर्माण करवाया जा रहा है। इसके परिणामस्वरूप ग्रामीण क्षेत्र में खिलाड़ियों ने अपना हुनर दिखाने का काम भी किया है। कृषि मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार हरियाणा के खिलाडिय़ों को गांव स्तर पर ही इस तरह की सुविधाएं देने का काम कर रही है ताकि जिला, प्रदेश, राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलते समय उन्हें कोई दिक्कत न आए।
उन्होंने कहा कि आज के इस महाकुंभ में हरियाणा व पंजाब के खिलाड़ियों का मैच काफी रोचक रहा। इस अवसर पर एसपी अजीत सिंह, एसडीएम जगदीश चंद्र, बीआरसीएम शिक्षण संस्थान के निदेशक डॉ एसके सिन्हा, डीएसपी अरविंद दहिया, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रविंद्र मंडोली, राजीव श्योराण, सुशील केडिया, गजानंद अग्रवाल, कैप्टन रामफल श्योराण, मंडल अध्यक्ष विजय पूनिया, लाल सिंह लालू, अनिल झाझडिया, सुनील थेबड़, गुलशन मंत्री, नसीब पातवान, सुनील सिरसी, रितेश बहल, सतबीर चैहड़, शैली कादयान, दौलत राम सोलंकी, रमेश खटक, कोच अरुण कुमार सहित अनेक पार्टी पदाधिकारी, कबड्डी कोच, रेफरी, पंजाब व हरियाणा के खिलाड़ी सहित हजारों की संख्या में खेल प्रेमी मौजूद थे।
विशेष :
आजादी के अमृत महोत्सव के तहत बहल के खेल स्टेडियम आयोजित हरियाणा व पंजाब की टीमों के बीच कबड्डी के महाकुंभ में आगमन पर कृषि मंत्री जेपी दलाल का ढोल-नगाड़ों के साथ फूल-माला पहनाकर भव्य स्वागत किया। उनके स्वागत के लिए प्रस्तुत किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने भी महाकुंभ के इस अवसर पर समा बांध दिया।
बहल के खेल स्टेडियम में आयोजित हरियाणा -पंजाब की टीमों के बीच कबड्डी के महाकुंभ के आगमन पर कृषि मंत्री जेपी दलाल का आगमन देखने लायक था। उनके यहां पहुंचने पर ढोल- नगाड़ा, बीन पार्टी आदि के साथ जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर प्रस्तुत सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने भी देशभक्ति की भावनाओं में डुबो दिया। कलाकार कर्मवीर फौजी ने देश भक्ति व धार्मिक भजन प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया। होशियार सिंह की बीन पार्टी ने भी दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। महाकुंभ के इस मेले में नजारा देखने लायक था चारों ओर जमा भीड़ में भारी जोश और उत्साह देखने को मिला। भिवानी और आस-पास की खबरे अपने मोबाइल पर देखने के लिए
हमारे YouTube को subscribe करे
Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal