राज्य स्तरीय पशु-प्रदर्शनी पशुपालकों व किसानों की आय बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगी: जेपी दलाल

25
SHARE

पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने किया प्रदर्शनी स्थल का निरीक्षण
पशु प्रदर्शनी में प्रदेशभर से आएंगे उत्कृष्ट नस्ल के पशु
कृषि मंत्री दलाल ने पशुपालन व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिए जरूरी निर्देश
भिवानी।  

हरियाणा के कृषि एवं पशुपालन मंत्री जेपी दलाल ने भिवानी में सेक्टर 13 के सामने खाली मैदान में 25 से 27 फरवरी को आयोजित होने जा रहे राज्य स्तरीय पशु प्रदर्शनी के लिए सोमवार को मौके का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पशुपालन और अन्य संबंधित अधिकारियों को पशु प्रदर्शनी को भव्य और आकर्षक बनाने के लिए जरूरी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि राज्य स्तरीय पशु-प्रदर्शनी पशुपालकों व किसानों की आय बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगी। प्रदर्शनी के दौरान युवा पशुपालन, मच्छली पालन व खेती से संबंधित नई-नई जानकारी हासिल करेंगे, जिससे उनके लिए रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि पशु-प्रदर्शनी में शामिल होने वाले पशुपालकों को किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी। उनके रहने व भोजन आदि का समुचित प्रबंध होगा।
निरीक्षण के दौरान कृषि एवं पशुपालन मंत्री दलाल ने कहा कि प्रदर्शनी स्थल को सही तरीके से समतल बनाया जाए ताकि प्रदर्शनी के दौरान किसी प्रकार की दिक्कत न आए। उन्होंने कहा कि यह राज्य स्तरीय अपने-आप में अनूठी होगी। उन्होंने कहा कि पशु-प्रदर्शनी में हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय, मुख्यमंत्री  मनोहर लाल, केंद्रीय मंत्रीगण, सांसद गण और विधायक गण सहित अनेक अति विशिष्ट व्यक्ति शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि पशु प्रदर्शनी में पशुपालन, बागवानी, कृषि से संबंधित उत्पादों की करीब 150 स्टॉल लगाई जाएंगी, जिनके माध्यम से पशुपालन और किसान नवीनत्तम जानकारी हासिल करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में उत्कृष्ट नस्ल के पशु शमिल किए जाएंगे, जिनके पंजीकरण के लिए पशुपालन विभाग के अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी के दौरान कम से कम एक हजार उत्तम नस्ल के पशु शामिल होंगे।
कृषि मंत्री दलाल ने कहा कि यह पशु-प्रदर्शनी पशुपालकों व किसानों की आय को बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होगी। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों व पशु पालकों की आय बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है तथा इसके लिए निरंतर नई-नई योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। इसी कड़ी में भेड़ व बकरी पालन को बढावा दिया जा रहा है। युवाओं को मछली पालन के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह राज्य स्तरीय पशु प्रदर्शनी युवाओं के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा करेगी। दलाल ने कहा कि प्रदर्शनी के माध्यम से पशुपालकों को यह पता चलेगा कि किस प्रकार से एक पशु का दूध दस लीटर से बढाकर 15 लीटर किया जा सकता है। इसी प्रकार से युवाओं को बागवानी व फूलों की खेती के बारे में भी जानकारी हासिल होगी ताकि वे परंपरागत खेती से हटकर अन्य खेती कर सके। किसानों को सुक्षम सिंचाई के बारे में विस्तार से जानकारी मिलेगी।
इस दौरान उन्होंने पशुपालन विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस राज्य स्तरीय पशु-प्रदर्शनी में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पशु-प्रदर्शनी में हरियाणवी, राजस्थानी और पंजाब की संस्कृति पर आधारित शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी, जिसके लिए प्रसिद्ध कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे।
इस दौरान उपायुक्त आरएस ढिल्लो, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल, एसडीएम महेश कुमार, नगराधीश विजय कुमार यादव, भाजपा जिला अध्यक्ष शंकर धूपड़, पूर्व विधायक शशि रंजन परमार, प्रदर्शनी के नियुक्त नोडल ऑफिसर एवं प्रबंध निदेशक पशुपालन डॉ. एसके बागोरिया,  उप निदेशक डॉ. सुखदेव राठी, उप निदेशक डॉ. दयानंद शर्मा, रजिस्ट्रार डॉ. तेजेंद्र राणा, उप निदेशक भिवानी सतप्रकाश वर्मा, एसडीओ डॉ. प्रदीप कुमार और डॉ. विजय सनसनवाल सहित लोक निर्माण, हुडा, नगर परिषद, जनस्वास्थ्य विभाग आदि संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal