दुष्कर्म के आरोप में सुशील वर्मा चण्डीगढ़ से काबू

2442
SHARE

 भिवानी ।

भिवानी में भिवानी बचाओ आंदोलन के संयोजक सुशील वर्मा को दुष्कर्म के मामले में बुधवार सुबह चंडीगढ़ से पुलिस ने गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ कूड़ा उठान और कचरा निस्तारण कंपनी में काम करने वाले एक महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर केस दर्ज कराया था। पुलिस उसे गिरफ्तारी के बाद भिवानी लेकर पहुंचेगी।

बता दें कि शिकायतकर्ता महिला ने अप्रैल महीने में भिवानी सिटी थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी। महिला ने आरोप लगाए थे कि 10 महीने से वह कंपनी के कार्यालय की रसोई में खाना बनाने का काम करती है। महिला के अनुसार भिवानी बचाओ आंदोलन के संयोजक सुशील वर्मा और कंपनी के एक कर्मी हर्ष ने उससे छेड़छाड़ व गाली गलौज की। पुलिस ने छेड़छाड़ व एससीएसटी एक्ट सहित संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

बाद में भिवानी डीएसपी हैड क्वार्टर के समक्ष महिला ने सुशील वर्मा व हर्ष पर उससे कई बार दुष्कर्म करने के आरोप लगाए। महिला के बयान मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज करवाए गए। उसके बाद पुलिस ने पीड़ित महिला का मेडिकल प्रशिक्षण करवाया। भिवानी पुलिस के डीएसपी हेड क्वार्टर की टीम द्वारा आरोपी सुशील वर्मा को बुधवार सुबह चंडीगढ़ से गिरफ्तार किया गया है। बता दें कि आरोपी सुशील वर्मा द्वारा 26 अप्रैल को कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए याचिका दायर की गई थी। कोर्ट ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद उसे अग्रिम जमानत नहीं दी थी। पुलिस इसके बाद से उसकी गिरफ्तारी के प्रयास में लगी थी। सुशील वर्मा भिवानी बचाओ आंदोलन चला कर चर्चा में आया था। उस समय भिवानी नगर परिषद में 500 करोड़ रुपए घोटाले के आरोप लगे थे। इसको लेकर संघर्ष समिति बनाई गई थी। सुशील वर्मा ने भिवानी बचाओ आंदोलन चलाया। इसमें लोगों को खूब समर्थन मिला था। सुशील वर्मा इस आंदोलन के संयोजक थे।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal