गठित टीम घर-घर जाकर प्रत्येक सदस्य की करे स्क्रीनिंग एवं सैम्पलिंग- उपायुक्त

241
SHARE

होम आईसोलेट कोरोना संक्रमित मरीज को समय पर उनके घर पहुंचाए उपचार किट- जयबीर सिंह आर्य
भिवानी, 22 मई। उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना की रोकथाम के लिए जिले में गठित टीम घर-घर जाकर प्रत्येक सदस्य की स्क्रीनिंग एवं सैम्पलिंग करें। यह कार्य 24 मई तक पूरा कर लिया जाए। रिपोर्ट में संक्रमित पाए जाने पर उसे आईसोलेट किया जाए और उनके घरद्वार पर ही कोरोना उपचार किट भिजवाई जाए। कोरोना उपचार किट भिजवाने में कोई देरी नही होनी चाहिए।
उपायुक्त जयबीर सिंह आर्य शनिवार को कैंप कार्यालय में कोविड-19 संक्रमण को नियंत्रित करने एवं मरीजों के उपचार के लिए आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों व स्वास्थ्य विभाग को आपसी तालमेल बनाकर ईमानदारी व सेवाभाव से कार्य करना चाहिए, ताकि आमजन को इस वैश्विक महामारी में किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सुनिश्चित करें कि ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर में जाकर प्रत्येक व्यक्ति की गहनता से स्क्रीनिंग एवं सैम्पलिंग की जाए। सैम्पलिंग टीम में विभाग का एक कर्मचारी टेक्रिकल एवं प्रशिक्षित होना चाहिए। सैम्पलिंग एवं स्क्रीनिंग का कार्य गठित टीमों द्वारा प्रात: 09 बजे से देर सांय सात बजे तक किया जाए ताकि समय रहते पूरा किया जा सके। सैम्पलिंग एवं टैस्टिंग में संक्रमित पाए जाने पर उसे तुरन्त हॉम आईसोलेट किया जाए और समय पर उपचार किट भिजवाई जाए। यदि संक्रमित व्यक्ति के उनके घर में आईसोलशन के लिए जगह नही है तो उन्हें नजदीकी आईशोलेशन सैंटर में रखा जाए।
जयबीर सिंह ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति का जीवन बहुत ही कीमती है। जिले में किसी भी व्यक्ति की उपचार के अभाव में जान नही जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि गंभीर मरीजों को शिफ्ट करने की पूरा प्रबंध किया जाए। उन्होंने जिला आयुर्वेद अधिकारी को निर्देश दिए कि कोरोना उपचार में प्रयुक्त होने वाली आयुर्वेदिक दवाईयां भी प्रयाप्त मात्रा में होनी चाहिए। यदि विभाग के पास दवाईयां कम है तो उस बाजार से खरीदे। उन्होंने सिविल सर्जन व प्रधान चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि जिला मुख्यालय के अस्पताल में सभी वंटिलेटरों को चालू हालात में रखा जाए। अस्पताल में मरीजों के लिए मेडिसन, ऑक्सीजन, बेड आदि की कमी नही होनी चाहिए। इसके लिए फैंडस की कोई कमी नही रहने दी जाएगी। सामाजिक संस्थाओं का सहयोग की आवश्यकता है तो उन्हे अवगत करवाया जाए। उन्होंने सीएमओ व पीएमओ को निर्देश दिए कि प्रतिदिन अस्पताल में डयूटी स्टाफ, लैब, वैक्सीनेशन, सैम्पलिंग, मेडिसन, स्टॉक आदि का निरीक्षण कर रिपोर्ट मुझे व अतिरिक्त उपायुक्त को भिजवाई जाए।
बॉक्स
जिलाधीश जयबीर सिंह आर्य ने आज अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल को कोरोना संक्रमण प्रबंधन के लिए एडमिस्ट्रेटर नियुक्त किया है। वे कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए नियुक्त सभी अधिकारियों व कर्मचारियों के कार्य की समीक्षा करेंगे। इसके साथ-साथ वेंटिलेटर, सैम्पलिंग, टैस्टिंग, वैक्सीनेशन, कोरोना उपचार किट व मैडिसन आदि का निरीक्षण करेंगे और सभी नोडल अधिकारियों से प्रतिदिन उनके द्वारा किए गए कार्यो एवं उनके सामने आने वाली परेशानियों बारे समीक्षा करेंगे ताकि जिला को कोविड मुक्त किया जा सके।
इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त राहुल नरवाल, नगराधीश हरबीर सिंह, जिला परिषद के सीईओ कुशल कटारिया, शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी सुरेश रविश कुमार, सिविल सर्जन डॉ सपना गहलावत, प्रधान चिकित्सा अधिकारी डॉ मंजू कादयान, डॉ आशिष सांगवान, डॉ अमित अग्रवाल, डॉ प्रवीन कुमार सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व चिकित्सक उपस्थित रहे।