हिसार में जलने से दो बहनों की मौत का मामला:बेटियों को डीजल-पेट्रोल डालकर जलाया, नहर में कूदकर खुदकुशी की

73
SHARE

हिसार।

हरियाणा के हिसार जिले के गांव मोहब्बतपुर में 16 मार्च को दो बहनों की जलने से मौत कोई हादसा नहीं था, बल्कि उनकी हत्या की गई है। पुलिस की आरंभिक जांच में सामने आया है कि परिवार के मुखिया छोटूराम ने चारों बच्चों को मारने के लिए पेट्रोल-डीजल डाल कर आग लगाई थी। इसमें दो सगी बहनों मोनिका (16) और रिंकू (14) की मौत की जलने से मौत हो गई थी, जबकि खुशबू (16) व शुभम (12) को बचा लिया गया था।

इस बीच वारदात के बाद से लापता छोटूराम का शव भी व राजस्थान में झांसल गांव में सिद्धमुख नहर में मिला है। माना जा रहा है कि दोनों बेटियों को जलाने के बाद छोटूराम ने नहर में कूद कर आत्महत्या की है। एसपी हिसार के सुरक्षा एजेंट की शिकायत पर छोटूराम व अन्य परिजनों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने अब थाना आदमपुर में हत्या का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। पुलिस अब पूरी वारदात से पर्दा हटाने के प्रयासों में लगी है।

ये था मामला

16 मार्च को आदमपुर क्षेत्र के गांव मोहबतपुर में बुधवार सुबह बच्चों का शोर सुनकर आसपास के लोग जागे तो छोटूराम के घर में आग लगी थी और आवाजें भी वहीं से आ रही थी। ताऊ पवन अपने परिजनों के साथ मौके पर पहुंचा तो कमरे में आग लगी थी और मोनिका और रिंकू आग की लपटों से घिरी हुई थी। परिजनों ने उनको आग से बचाने का प्रयास किया, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए। दोनों बहनों की जलने से मौत हो गई। वारदात के बाद से लड़कियों का पिता छोटूराम लापता था। वह रात को घर के बरामदे में सोया था। जबकि चारों बच्चे अंदर कमरे में थे। मौके से पुलिस ने पेट्रोल-डीजल की खाली बोतल मिली थी।

कमरे में सो रहे थे चार बच्चे

बताया गया है कि छोटू राम चार बच्चों, जिनमें 3 लड़कियां और एक लड़का है, का पिता है। वह खेतीबाड़ी का काम करता है। मंगलवार को छोटू की पत्नी अपने मायके राजस्थान के मंढाना में गई थी। रात को चारों बच्चे घर में सो रहे थे। मोनिका व रिंकू के अलावा खुशबू (16) व शुभम (12) अपनी चारपाइयों पर सो रहे थे। इनका पिता रात को घर में बरामदे में सोया था। आग लगने के शोर के बाद जब ताऊ मौके पर पहुंचा तो छोटूराम घर में नहीं था।

डीजल की खाली बोतल मिली

मोहबतपुर में दो सगी बहनों के जलकर मरने की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और छानबीन शुरू की। मौके से डीजल की एक खाली बोतल बरामद हुई है। आरंभ में शक जताया गया कि कमरे में आग बिजली के तारों में शॉर्ट सर्किट से लगी है, लेकिन पता चला कि हादसे के समय गांव में बिजली कट था। बिजली निगम ने पुलिस के सामने इसकी आधिकारिक पुष्टि की है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal