संदिग्ध हालत में जलने से दो सगी बहनों की मौत, मां गई थी मायके

188
SHARE
मंडी आदमपुर।
गांव मोहबतपुर में दो सगी बहनों की संदिग्ध हालात में जलने से मौत हो गई। घटना के बाद फोरेंसिक साइंस की टीम मौके पर पहुंची। मौके से एक डीजल की खाली बोतल मिली है। हादसे के बाद से बच्चों का पिता संदिग्ध हालात में गायब है। उसका फोन भी स्विच ऑफ बताया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार गांव मोहबतपुर निवासी छोटूराम खेती बाड़ी करता है। उसके साथ वाले मकान में उसका दूसरा भाई पवन और तीसरा भाई अपने परिवार के साथ रहते हैं। पवन की पत्नी और छोटूराम की पत्नी शंकुतला सगी बहनें हैं। यह दोनों सोमवार को अपने मायके राजस्थान के हनुमानमगढ़ जिले के गांव मंढाना में किसी धार्मिक कार्यक्रम में हिस्सा लेने गई थी। मंगलवार रात छोटूराम की तीन लड़की 18 साल की मोनिका, 16 साल की खुशबू, 14 साल की रिंकू और बेटा 12 साल का शुभम घर में अंदर कमरे में चारपाइयों पर सो रहे थे।

छोटूराम बरामदे में सो रहा था। बुधवार सुबह करीब तीन बजे कमरे में अचानक आग लग गई। खुशबू और शुभम ने शोर मचाया तो पास के मकान से उनका ताऊ पवन और पवन का लड़का राहुल बचाने के लिए आए। आग अधिक तेजी से फैली होने के कारण मोनिका और रिंकू को नहीं बचाया जा सका। दोनों की आग में जलने से मौत हो गई। राहुल ने पुलिस को बताया कि जब वह बच्चों का शोर सुनकर बचाने आए तब छोटूराम घर में नहीं था। उसका मोबाइल भी स्विच ऑफ आ रहा है।

पुलिस को मौके से डीजल की एक खाली बोतल मिली है।
हादसे के बाद सूचना मिलने पर बिजली निगम की टीम भी मौके पर पहुंची। बिजली निगम कर्मियों ने बताया कि मोहबतपुर में रात 12.30 से 4.30 तक बिजली कट था। ऐसे में शार्ट सर्किट से आग की संभावना नहीं है। कमरे के अंदर गैस सिलिंडर भी नहीं था।
बच्चों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। आग लगने के कारणों का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। छोटूराम का मोबाइल नंबर स्विच ऑफ आ रहा है। घटना के बारे में अभी अधिक कुछ नहीं कहा जा सकता। – नारायण चंद, डीएसपी, हिसार
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal