भिवानी जिला अस्पताल में आए पांच वेंटिलेटर का इस्तेमाल क्यों नहीं :किरण चौधरी

164
SHARE

– प्रदेश में मौतों के आंकड़ों को बताया भयावह
– गांवों में बनाए आइसोलेशन सेंटरों में सुविधाएं न होने का लगाया आरोप
– आपात सेवाओं के लिए ऑपरेशन थियेटर चालू करने की मांग

भिवानी, 19 मई।
हरियाणा विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल की पूर्व नेता किरण चौधरी ने राज्य में कोरोना से मौतों के आंकड़ों को भयावह बताते हुए कहा कि एक तरफ बढ़ते संक्रमण और मौतों से प्रदेश में हाहाकार मचा है तो दूसरी तरफ शासन-प्रशासन के लापरवाह रवैये पर विराम लगता नजर नहीं आ रहा है। लापरवाही का आलम यह है कि पिछले दिनों जिला अस्पताल में आए पांच वेंटिलेटर का आज तक इस्तेमाल ही नहीं किया। गांवों में बनाए गए आइसोलेशन सेंटर में न दवा हैं, न डाक्टर हैं। उन्होंने जिला अस्पताल में इमरजेंसी ओटी शुरू करने की मांग भी की।
बुधवार को भिवानी-महेंद्रगढ़ संसदीय क्षेत्र के कार्यकर्ताओं से कोविड की स्थिति पर वर्चुअल चर्चा के दौरान श्रीमती चौधरी ने यह बात कही। कांग्रेस कोरोना रिलीज टॉस्क फोर्स की दूसरी मीटिंग में पूर्व सांसद श्रुति चौधरी ने भी कार्यकर्ताओं से कोरोना के हालात की क्षेत्रवार फीडबैक ली और सुझाव भी मांगे।
वर्चुअल मीटिंग में पूर्व कैबिनेट मंत्री किरण चौधरी ने कहा कि कोरोना महामारी को लेकर शासन-प्रशासन का रवैया यकीनन निराशाजनक है, लेकिन हमें अपना इंसानियत का धर्म निभाना है। हम सभी को मिलजुलकर अपने आसपास जरूरतमंद लोगों की मदद करनी है।
उन्होंने कहा कि यह बेहद निराशाजनक और चिंता में डालने वाली बात है कि भिवानी के जिला अस्पताल में पिछले 4-5 दिन से पांच नए वेंटिलेटर रखें हैं, किंतु इनका इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है। जबकि, गंभीर हालत वाले मरीज वेंटिलेटर के लिए तरह रहे हैं। मोटी फीस देकर प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती होने को मजबूर हैं।
कांग्रेस विधायक ने सरकार से मांग की कि जिला अस्पताल में तुरंत इमरजेंसी ओटी (ऑपरेशन थियेटर) शुरू किया जाना चाहिए। ताकि, सिजेरियन डिलीवरी, हड्डी फ्रैक्चर, अपेंडिक्स जैसे मरीजों को आपात चिकित्सा मिल सके। ओटी बंद होने के कारण लोगों को मजबूरन प्राइवेट अस्पतालों में मोटी रकम खर्च करके इलाज कराना पड़ रहा है। साथ ही, ग्रामीण अंचल में टेस्टिंग बढ़ाए जाने की मांग को दोहराया।
कई कार्यकर्ताओं ने बताया कि गांवों में बनाए गए कई आइसोलेशन सेंटरों में दवा, डाक्टर तक नहीं हैं। यह भी बताया कि कोरोना मरीजों को मेडिकल किट भी नहीं मिल रहा है। एक नेता ने कहा कि गांवों में खांसी-जुकाम व बुखार से पीड़ित लोगों की संख्या बहुत अधिक है। डोर-टू-डोर अभियान चलाया जाना चाहिए।
अपने संबोधन में पूर्व सांसद श्रुति चौधरी ने कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि ऐसे बुजुर्ग और बेसहारा लोगों की हरसंभव मदद करें, जिनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। कार्यकर्ता जरूरतमंद लोगों तक दवा और खाना पहुंचाने की जिम्मेदारी लें। पूर्व सांसद ने लोगों की इम्यूनिटी बढ़ाने के काढ़ा के पैकेट वितरित करने और आयुर्वेद चिकित्सकों की जिला अस्पताल में तैनाती की मांग की। ताकि, आयुर्वेदिक उपचार चाहने वालों को परेशान न होना पड़े।
वर्चुअल मीटिंग में पार्टी के प्रदेश प्रभारी विवेक बंसल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि 21 मई को देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के मद्देनजर दिवंगत प्रधानमंत्री की पुण्यतिथि को कोविड नियमों का पालन करते हुए मनाना है। इस दिन पार्टी जन कोरोना पीड़ितों तक दवाई, भोजन, फल, मास्क, सेनेटाइजर आदि पहुंचाएंगे। श्री बंसल ने कार्यकर्ताओं से कहा कि कोरोना पीड़ितों की मदद करें, यही उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी।