यमुनानगर जहरीली शराब कांड:7 मौतों से पुलिस-प्रशासन हरकत में; शराब ठेका सील

149
SHARE

यमुनानगर।

यमुनानगर में जहरीली शराब से 7 व्यक्तियों की मौत के बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आ गया है। मंडेबरी और पंजेटो के माजरा के बाद तीसरे गांव फूंसगढ़ में भी एक युवक की मौत हुई है। अब तक कुल 7 व्यक्तियों की मौत हुई है, जबकि 3 अन्य का इलाज चल रहा है। सभी मृतक मजदूरी का काम करते थे।

आबकारी विभाग ने उस शराब के ठेके को सील कर दिया है, जहां से यह जहरीली शराब खरीदी गई थी। यह शराब का ठेका तीन-चार गांवों के बीच मे है। साथ ही पुलिस व फोरेंसिक टीम ने दोनों गांवों में श्मशान घाट में पहुंच कर मृतकों से जुड़े सेंपल लिए। मृतकों का बुधवार को गुपचुप तरीके से बिना पोस्टमॉर्टम के ही अंतिम संस्कार कर दिया गया था। पुलिस अब इनकी मौत के कारणों का पता लगाने के लिए प्रयास में लगी है। इस बीच एक को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

बता दें कि यमुनानगर में जहरीली शराब पीने से जहां मंडेबरी के 4 और पंजेटों के माजरा के 2 लोगों की मौत हो गई। वहीं तीसरे गांव फूंसगढ़ में भी जहरीली शराब पीने से 23 वर्षीय प्रवीन उर्फ फिरंगी की मौत की जानकारी दी गई है। हालांकि इसमें भी मौत के कारण की अभी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। परिवार व ग्रामीणों की मानें तो जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या सात हो गई है।

उधर मंडेबरी गांव में एक और 43 वर्षीय जगमाल की आज सुबह तबीयत बिगड़ गई। सुबह के समय उसे उल्टी लगी। इसके बाद परिवार के लोग उसे यमुनानगर शहर अस्पताल लेकर आए जहां उसका इलाज चल रहा है। ऐसे में अस्पताल में उपचाराधीन लोगों की संख्या भी तीन हो गई। जबकि मृतक विशाल के शव के पोस्टमॉर्टम की कार्रवाई शुरू हो गई।

यमुनानगर की ASP हिमाद्री कौशिक ने बताया कि कल दो गांव के लोगों की मौत के मामले में आज शराब के ठेके पर पहुंचे हैं और इस मामले को लेकर उच्च स्तरीय जांच की जा रही है। पुलिस विभाग की 4 टीमें इस मामले में लगी हुई हैं। अब तक की जांच में सामने आया है कि जिन लोगों की मौत हुई है, वह ज्यादातर मजदूर का काम करते हैं और उनकी मौत किस वजह से हुई है। इसकी जांच की जा रही है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal