भिवानी: शिक्षक के परिवार काे साजिश के तहत उतारा गया था माैत के घाट

498
SHARE
भिवानी: नई बस्ती में शिक्षक, उसकी पत्नी व 15 वर्षीय बेटी की माैत केवल अंगीठी के धुएं में दम घुटने से नहीं हुई थी बल्कि साजिश के तहत पूरे परिवार काे माैत के घाट उतारा गया था। यह बात पुलिस की दस दिन की जांच के बाद सामने आई है। इसी के चलते पुलिस ने शिक्षक के भाई बिजेंद्र व अन्य के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।
लगभग दस दिन पहले नई बस्ती गली नंबर दाे में अपने मकान में रहने वाले शिक्षक अजीत, उसकी पत्नी सुशीला व उनकी 15 वर्षीय बेटी का शव संदिग्ध परिस्थितियाें में कमरे में बेड पर मिला था। जिस कमरे में तीनाें के शव मिले थे, उस कमरे का एक गेट अंदर से बंद था। पुलिस दाेनाें दरवाजे ताेड़कर अंदर पहुंची थी। पुलिस काे जांच में कमरे में अंगीठी मिली थी तथा कमरे में अंगीठी के धुएं की गंध भी अा रही थी।
इससे पुलिस ने आरंभिक जांच के बाद धुएं में दम घुटने से तीनाें की माैत की आशंका जताई थी। हालांकि पुलिस पहले दिन से ही मामले की सभी एंगल से जांच में जुटी हुई थी। क्याेंकि मृतका सुशीला के पिता धर्मबीर ने दामाद, बेटी व बच्ची की साजिश के तहत हत्या की आशंका जताई थी। धर्मबीर का कहना था कि वह दाे से तीन दिन में अपनी बेटी के घर आता जाता रहता था तथा दाे दिन पहले तक घर में अंगीठी नहीं थी। इसलिए पुलिस ने मामले की गहनता से जांच शुरू की।
पुलिस काे शक मृतक के भाई ने ही रची थी साजिश
पुलिस की अभी तक की जांच में सामने आया है कि शिक्षक व उसके परिवार के सदस्याें की हत्या शायद साजिश के तहत की गई है। पुलिस काे शक है कि यह साजिश किसी और ने नहीं बल्कि खुद मृतक के भाई ने अन्य के साथ मिलकर रची है। इसलिए पुलिस ने अब मृतक के भाई बिजेंद्र व अन्य के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 201, 328 व 120बी के तहत मामला दर्ज किया है।
पुलिस काे शक है कि हत्याराेपी ने तीनाें की माैत के लिए शायद अंगीठी का सहारा लिया है और अंगीठी भी शायद आराेपी ने ही घर में उपलब्ध करवाई थी। इसके अलावा आराेपी ने हत्या काे हादसे का रूप देने का भी प्रयास किया गया है और सबूत भी मिटाए है। इसलिए पुलिस ने आराेपी के खिलाफ हत्या के साथ सबूत मिटाने व अपराध करने व अपराध किए जाने को सुगम बनाने के आशय से काेई वस्तु व्यक्ति काे उपलब्ध करवाने की धाराओं के तहत भी मामला दर्ज किया है।
यह शुक्रवार काे पुलिस द्वारा फॉरेंसिक साइंस लेबोरेट्री की टीम के साथ मृतक शिक्षक के घर पहुंचकर घटनास्थल पर हादसे से संबंधित रि-सीन सृजित करने के बाद स्पष्ट हाे पाया था। रि-सीन के बाद ही शायद पुलिस काे स्पष्ट हाे पाया था कि यह हादसा नहीं बल्कि हत्या है। इसलिए पुलिस ने देर रात हत्या का मामला दर्ज किया है।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal