हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा वार्षिक सम्मानों की घोषणा

128
SHARE
हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा साहित्यकार सम्मान योजना वर्ष 2021 के लिए विभिन्न सम्मानों हेतु साहित्यकारों का चयन कर लिया गया है। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अकादमी के अध्यक्ष मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा सम्मानों की स्वीकृति प्रदान कर दी गई है।
डॉ. अमित अग्रवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री के प्रेरक मार्गदर्शन में हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा गत 7 वर्ष की अवधि में साहित्यकार सम्मान योजना के अंतर्गत हिंदी एवं हरियाणवी के लगभग 100 साहित्यकारों को सम्मानित किया जा चुका है। अकादमी की साहित्यकार सम्मान योजना वर्ष 2021 के अंतर्गत साहित्यकारों का चयन कर लिया गया है।
विशेष साहित्य साधना सम्मान, 2021
डॉक्टर जयगवान गोयल, कुरुक्षेत्र को आजीवन साहित्य साधना के लिए अकादमी द्वारा विशेष साहित्य साधना सम्मान प्रदान करने का निर्णय लिया गया है, जिसकी सम्मान राशि 5 लाख रुपये है। डॉ. जयभगवान गोयल को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में हाल ही में राष्ट्रपति  रामनाथ कोविंद द्वारा पद्मश्री सम्मान से भी सम्मानित किया जा चुका है। हिंदी साहित्य के मूर्धन्य विद्वान डा . गोयल की तीस से अधिक पुस्तकें प्रकाशित हुई हैं। इसी प्रकार, अकादमी द्वारा समग्र लेखन के लिए राष्ट्रीय स्तर पर प्रदान किए जाने वाला आजीवन साहित्य साधना सम्मान (राशि 7 लाख रुपये) के लिए राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त वरिष्ठ साहित्यकार श्री रोहित यादव, मंडी अटेली का चयन किया गया है।
इसके अलावा, महाकवि सूरदास सम्मान (राशि 5 लाख रुपये) वरिष्ठ साहित्यकार एवं गज़लकार श्री हरेराम समीप, फरीदाबाद को दिया जायेगा। पंडित माधव प्रसाद मिश्र सम्मान (2.50 लाख रुपये) के लिए वरिष्ठ गीतकार एवं चिंतक डॉ. रमाकांत शर्मा, भिवानी का चयन किया गया है।
डॉ अमित अग्रवाल ने बताया कि हिंदी साहित्य में विशेष योगदान के लिए डॉ. प्रद्युम्मन भल्ला, कैथल को बाबू बालमुकुंद गुप्त सम्मान (2.50 लाख रुपये) तथा साहित्यिक पत्रकारिता के लिए दिये जाने वाले लाला देशबन्धु गुप्त सम्मान (2.50 लाख रुपये) के लिए वरिष्ठ कवि एवं सम्पादक  रघुविन्द्र यादव, नारनौल का चयन किया गया है।
हरियाणवी भाषा एवं साहित्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए वी.एम. बेचैन, भिवानी का पंडित लखमीचंद सम्मान (2.50 लाख रुपये) के लिए चयन किया गया है। इसी प्रकार हरियाणवी भाषा एवं साहित्य के लिए दिए जाने वाला जनकवि मेहर सिंह सम्मान (राशि 2.50 लाख रुपये)  लहना सिंह अत्री, करनाल को प्रदान किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर साहित्य के क्षेत्र में प्रदेश का नाम गौरवान्वित करने के लिए दिए जाने वाले हरियाणा गौरव सम्मान (राशि 2.50 लाख रुपये) के लिए सुप्रसिद्ध गीतकार एवं चिंतक डॉ. राजेन्द्र गौतम, दिल्ली का चयन किया गया है। हिंदी साहित्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए दिए जाने वाले श्रेष्ठ महिला रचनाकार सम्मान (2.50 लाख रुपये) के लिए श्रीमती अंजु दुआ जैमिनी एवं  नमिता राकेश, फरीदाबाद का चयन किया गया है। कवि दयाचंद मायना सम्मान (राशि 2.50 लाख रुपये)  शमशेर कौसलिया, महेन्द्रगढ़ को प्रदान किया जाएगा।
डॉ. अमित अग्रवाल ने बताया कि अकादमी द्वारा वर्ष 2021 से विशेष हिंदी सेवी सम्मान (राशि 1लाख रुपये) आरम्भ किया गया है। इस सम्मान के लिए वरिष्ठ शिक्षाविद् एवं चिंतक डॉ. शिवव मार खंडेलवाल, सोनीपत,  रवि शर्मा, लंदन (रोहतक), डॉ. सुरेन्द्र गुप्त, अम्बाला, श्रीमती आशा खत्री लता , रोहतक,  राजेश चेतन, दिल्ली और  महेन्द्र जैन, हिसार का चयन किया गया है। इसी प्रकार, युवा लेखक सम्मान के अंतर्गत स्वामी विवेकानंद युवा लेखक सम्मान (राशि 1 लाख रुपये) के लिए सुश्री  राविश, सोनीपत का चयन किया गया है।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal