लॉरेंस गैंग ने ट्रांसपोर्ट में मांगा हिस्सा, नहीं देने पर मुंशी व ड्राईवर को मारी गोली

302
SHARE

रोहतक ।

लॉरेंस गैंग के गुर्गे मोनू डागर ने ट्रक यूनियन के प्रधान को फोन पर धमकी दी और ट्रांसपोर्ट में हिस्सा मांगा। जब प्रधान ने हिस्सा देने से मना कर दिया तो सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में जेल में बद मोनू डागर ने युवकों को भेजकर फायरिंग करवा दी। जिसमें यूनियन के मुंशी सहित दो लोगों को गोली लग गई।

यह पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। जिसमें 4 बदमाश दो मोटरसाइकिलों पर आते हुए दिखाई दे रहे हैं। जिन्होंने बेखौफ होकर इस वारदात को अंजाम दिया। वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाश खुद को मोनू डागर के गुर्गे बताते हुए धमकी देकर वहां से फरार हो गए।

गांव बलियाणा निवासी जितेंद्र ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह भाईचारा ट्रक यूनियन का प्रधान है। 31 दिसंबर को उसके पास एक फोन आया। फोन पर सामने वाले ने खुद को मोनू डागर बताया। साथ ही कहा कि वह लॉरेंस गैंग से है। उसने कहा कि तुम जो ट्रांसपोर्ट का काम करते हो, उसमें हिस्सा कर ले, नहीं तो अच्छा नहीं होगा।

जितेंद्र ने कहा कि फोन पर उसने हिस्सा देने से मना कर दिया। जिस पर सामने वाले ने धमकी देते हुए कहा कि जो भी नुकसान होगा उसका स्वयं जिम्मेदार होगा। साथ ही जान से माने की धमकी भी दी और कहा कि दो-तीन दिन में इसका अंजाम देख लेना। इसके बाद 17 जनवरी को फिर से फोन आया और कहा कि बता हिस्सा देना है या नहीं। जिस पर जितेंद्र ने कहा कि उसके पास कोई काम नहीं है और मना कर दिया।

इसके बाद 2 फरवरी को चार बदमाश पिस्तौल लेकर आए। जिन्होंने वहां बैठे ड्राइवरों से कहा कि तुम्हारा प्रधान कहां पर है, उन्होंने कहा अंदर ऑफिस में बैठा होगा। यह सुनकर बदमाश यूनियन ऑफिस की तरफ गोलियां चलाते हुए आए। वहां बैठे पाक्समा निवासी यूनियन के मुंशी सुरेश राणा को तीन गोलियां मारी।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal