सरपंचों पर लाठी चार्ज, 50 से ज्यादा सरपंच हिरासत में

314
SHARE

जींद।

DC को बुलाने की मांग पर अड़े सरपंचों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया। सरपंच DC को बुलाने की मांग पर मेन गेट पर बैठे हुए। इस दौरान पुलिस ने उन्हें समझाने की काफी कोशिश की, लेकिन उन्होंने एक न सुनी।

कई घंटों तक सरपंच जब गेट से नहीं उठे तो पुलिस ने उन्हें उठाना शुरू किया। इस दौरान टकराव की स्थिति पैदा हो गई। पुलिस और सरंपचों में धक्का मुक्की हुई। 50 से ज्यादा सरपंचों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इस दौरान कई सरपंच और पुलिसकर्मियों को हल्की चोटें आई हैं।

जिले भर के सरपंच नेहरू पार्क में एकत्रित हुए और यहां से नारेबाजी करते हुए लघु सचिवालय पहुंचे । जींद सरपंच एसोसिएशन की प्रधान प्रीति मनोहरपुर ने कहा कि एक महीने से सरपंच अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे हैं। सोमवार को प्रदर्शन किया और DC को ज्ञापन देना चाहते थे, लेकिन DC नीचे नहीं आए। जब तक खुद DC उन से ज्ञापन नही लेंगे, उनका धरना जारी रहेगा। CTM अमित कुमार नीचे सरपंचों से ज्ञापन लेने के लिए आए, लेकिन सरपंचों ने उन्हें ज्ञापन देने से मना कर दिया।

खरकरामजी की पूर्व सरपंच कविता, प्रियंका खरकरामजी, प्रीति मनोहरपुर, विनोद, ऋषिपाल हैबतपुर, शमशेर, अनिल मांडो खेड़ी, उचाना ब्लॉक प्रधान सुरेंद्र, जुलाना ब्लॉक प्रधान समेत सभी ब्लॉक के प्रधान और 200 से ज्यादा गांवों के सरपंच DC ऑफिस में पहुंचे थे।

ऑफिस के मुख्य गेट पर बैठे रहने के कारण अपने कामों से आने वाले लोगों को बाहर ही इंतजार करना पड़ा। प्रीति मनोहरपुर ने कहा कि जब तक ई टेंडरिंग का फैसला वापस नहीं होता, राइट टू रिकॉल रद नही होता उनका धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।