हरियाणा में होगी लापता लोगों की तलाश

124
SHARE

चंडीगढ़।

हरियाणा के लापता लोगों की तलाश के लिए सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। राज्य के गृह मंत्री अनिल विज के निर्देश पर मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) तैयार कर ली गई है। हरियाणा पुलिस को होम मिनिस्टर विज ने गुमशुदा लोगों की तलाश के लिए 4 महीने का टाइम दिया है। दिए गए समय में यदि पुलिस इस काम को पूरा नहीं कर पाएगी तो यह जिम्मेदारी स्टेट क्राइम ब्रांच को सौंपी जाएगी। राज्य के लापता व्यक्तियों को उनके परिवारों से मिलाने के लिए अपराध एवं अपराधी ट्रैकिंग नेटवर्क (CCTNS) में डाटा भरने के दिए निर्देश भी गृह मंत्री ने दिए हैं। विज ने अधिकारियों से कहा है कि अब तक ढूंढे गए लापता व्यक्तियों का इंटीग्रेटेड इस्वैस्टीकेट फार्म (IIF-9) को भरने के लिए अभियान शुरू किया जाए।

राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने बताया कि मानव तस्करी रोधी इकाइयों और जिला पुलिस द्वारा वर्ष 2020, 2021 और 31 अक्टूबर, 2022 तक कुल 39830 गुम हुए बालकों व व्यक्तियों को रिकवर करने और बाल भिक्षुकों तथा बाल श्रमिकों का बचाव करने की उपलब्धि हासिल की है। आगे भी यह प्रक्रिया जारी रहेगी। सात के अंत तक इस आंकड़े में वृद्धि होगी।

इन इकाइयों में वर्तमान में 09 SI, 08 ESI, 22 ASI, 08 EASI, 46 HC, 02 EHC और 02 कॉन्स्टेबल सहित कुल 97 पुलिस अधिकारी काम कर रहे हैं। इन इकाइयों के मुख्य कार्य में बाल कल्याण समितियों (CWC) और जिला पुलिस के समन्वय से काम करना है। मुख्य कार्य लापता व्यक्तियों को छुड़ाना और उन्हें उनके माता-पिता, अभिभावकों के साथ फिर से जोड़ना, बाल भिक्षुकों को छुड़ाना और बाल श्रमिकों को छुड़ाना है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal