लिपिकों ने थाली बजाकर कुंभकरर्णीय नींद में सोई सरकार को जगाने का किया प्रयास

69
SHARE

भिवानी :

क्लेरिकल एसोसिएशन वेलफेयर सोसायटी हरियाणा (सीएडब्ल्यूएस) के बैनर तले प्रदेश भर का लिपिक 35400 वेतनमान की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन कलम छोड़ हड़ताल व भूख हड़ताल पर है तथा लगातार सरकार से वेतनमान बढ़ोत्तरी की मांग कर रहा है। लेकिन सरकार लिपिकों की जायज मांग मानने की बजाए नो वर्क-नो पै लागू कर लिपिकों को डराकर लोकतंत्र की हत्या करना चाहती है तथा लिपिकों की हड़ताल समाप्त करवाना चाहती है। वीरवार को प्रदेश भर में लिपिकों ने थाली बजाकर लिपिकों की मांगों के प्रति कुंभकरर्णीय नींद में सोई सरकार को जगाने का प्रयास किया। साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि सरकार अब भी नहीं जागी तो 2024 में लिपिक भाजपा को अच्छे से जगाने का काम करेंगे।

स्थानीय लघु सचिवालय के समक्ष 35400 वेतनमान की मांग को लेकर जारी लिपिकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल वीरवार को 30वें दिन तथा भूख हड़ताल 13वें दिन भी जारी रही। इस दौरान लिपिकों के प्रति सरकार के अनदेखे रवैये से गुस्साए लिपिकों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। धरने की अध्यक्षता सुनील शर्मा सचिव ने की तथा मंच संचालन  विक्रांत, सोमबीर, मनोज और नवीन ने किया। धरने का आयोजन जिला कोर्डिनेटर विजय वर्मा की देखरेख में किया जा रहा है। वीरवार को भूख हड़ताल पर ओमप्रकाश भुक्कल, नरेश कोषाध्यक्ष, भूपेंद्र सोमबीर,और सुरेश रहे। लिपिकों का समर्थन करने वार्ड नंबर-20 से जिला पार्षद महेंद्र शर्मा पहुंचे। स्थानीय लघु सचिवालय के समक्ष धरनारत्त लिपिकों को संबोधित करते हुए काऊज के जिला प्रधान संदीप ने कहा कि सरकार द्वारा नो वर्क-नो पै लागू किए जाने के बाद से लिपिकों में जोश दोगुना हो गया है। जिसके बाद उनका आंदोलन अब जन आंदोलन बन चुका है। पिछले कई वर्षो से लिपिकों का वेतनमान ना बढ़ाकर उनके साथ सरासर अन्याय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि लिपिक पिछले कई वर्षो से इस अन्याय को सहते आ रहे थे, लेकिन अब अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो चुके है तथा अब अपने हक लेकर ही पीछे हटेंगे। उन्होंने कहा कि महंगाई के इस दौर में कितने कम वेतन में किसी के

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal