प्रदेश की गठबंधन सरकार ने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का काम किया हैं: देवेंद्र सिंह बबली

81
SHARE
भिवानी।
विकास एवं पंचायत मंत्री देवेंद्र सिंह बबली ने कहा कि हरियाणा प्रदेश की गठबंधन सरकार भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का काम किया है। सरकार पारदर्शिता और मेरिट के आधार पर नौकरी दे रही हैं। इससे एक तरह से व्यवस्था परिवर्तन हुआ है। सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से हर वर्ग खुश है। सरकार द्वारा लोगों को ऑनलाईन माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। अधिकारी पूरी जिम्मेदारी के साथ कार्य कर रहे हैं, इसके लिए सरकार द्वारा स्पष्ट रूप से निर्देश दिए गए हैं। काम में कोताही बरतने वालों पर कार्रवाई की जा रही है।
विकास एवं पंचायत अधिकारी बबली शुक्रवार को स्थानीय पंचायत भवन में जिला लोक संपर्क एवं कष्ट निवारण समिति की मासिक बैठक में परिवादों का निपटारा करने के दौरान अपना संदेश दे रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि लोगों की शिकायतों का प्राथमिकता के साथ समाधान करें। नागरिकों को अनावश्यक रूप से कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़ें। बैठक में कुल 14 परिवाद रखे गए, जिसमें से सात का विकास एवं पंचायत मंत्री बबली ने मौके पर ही समाधान किया। बैठक के दौरान उपायुक्त नरेश नरवाल ने जिला प्रशासन की तरफ से श्री बबली का स्वागत किया और जिला में किए जा रहे विकास कार्यों तथा योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी दी। बैठक में पुलिस अधीक्षक वरूण सिंगला भी मौजूद रहे।
बैठक में बहादुरगढ़ निवासी दलबीर सिंह फोगाट के डाकघर से संबंधित परिवाद की सुनवाई के विकास एवं पंचायत मंत्री  बबली ने मामले की तह तक जाकर मास्टर माउंड तक पहुंचने और सभी दोषियों के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही पीड़ित को 15 दिन के अंदर-अंदर रूपए उसकी राशि दिलवाने के आदेश दिए। इसी प्रकार से सिवानी निवासी सुखबीर सिंह के परिवाद में सुनवाई करते हुए मामले की जांच एडीसी को सौंपी तथा 15 दिन में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बामला निवासी शंकुतला पत्नी सतीश के पेंशन संबंधित मामले में समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि मामले का निपटारा कर दिया गया है। इसी प्रकार से गांव चोरटापुर के सरपंच जसवीर सिंह का परिवाद पर अधिकारियों ने बताया कि शिकायत का समाधान किया जा चुका है। दादरी गेट भिवानी निवासी रमेश सैनी कुमार पुत्र सिंहराम सैनी के परिवाद की सुनवाई करते हुए विकास एवं पंचायत मंत्री श्री बबली ने शहरी स्थानीय निकाय को पांच दिन के अंदर मामले से संबंधित दस्तावेज भेजे जाएं ताकि पीडि़त को आर्थिक सहायता मिल सके। गांव चहडक़ला निवासी राजबीर पुत्र फूल सिंह मामले में विकास एवं पंचायत मंत्री ने तीन दिन के अंदर-अंदर खेत में बिजली का कनेक्शन देने के निर्देश दिए।
गांव लाड निवासी होशियार सिंह पुत्र प्रभातीराम के परिवाद की सुनवाई करते हुए विकास एवं पंचायत मंत्री बबली ने निर्देश दिए कि इस मामले में सभी दोषियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाए, भले ही इसमें स्वास्थ्य विभाग को कोई अधिकारी शामिल हो। इसके साथ ही पीड़ित को तुरंत प्रभाव से उसकी राशि का भुगतान करवाया जाए। गांव सिवानी निवासी अशोक कुमार पुत्र महाबीर प्रसाद के परिवाद की सुनवाई करते हुए विकास एवं पंचायत मंत्री  बबली ने मामले की जांच एसडीएम को सौंपी और प्रतिवादीगण की जमीन की तीन दिन के अंदर रजिस्ट्री करने के निर्देश दिए। स्थानीय विकास नगर निवासी बृजपाल सिंह, प्रदेशाध्यक्ष स्वास्थ्य शिक्षा सहयोग संगठन के मामले में केबिनेट मंत्री बबली ने प्रतिवादीगण को आगामी बैठक में बुलाने को कहा। गांव सिवाड़ा निवासी मांगे राम पुत्र जंदगी राम के परिवाद की सुनवाई करते हुए श्री बबली ने कहा कि मामले में स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि सरकारी कर्मचारी ने अपने पद के प्रभाव या दुरुपयोग से अपने खेत में पानी की पाइप लाईन डालने व बोर लगाने का काम किया है। उन्होंने निर्देश दिए कि पाईप लाईन की लीकेज को ठीक की जाए ताकि परिवादीगण की फसल में नुकसान न हो।
गांव मुंढाल निवासी पवन पुत्र सुरजभान का परिवाद के सुनवाई पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले का समाधान कर दिया गया है तथा परिवादीगण संतुष्टï है। तोशाम के नरेंद्र नंबरदार के परिवाद की सुनवाई पर  बबली ने रजिस्ट्रीयों की जांच करवाने के निर्देश दिए। इसी प्रकार से गांव ढाणा नरसान निवासी अमर सिंह पुत्र परस राम के मामले की शिकायत पर समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस मामले उचित कार्रवाई की जा रही है। चांग निवासी मोनिका रानी पत्नी सतीश कुमार के मामले में भी अधिकारियों ने बताया कि इस मामले का समाधान कर दिया गया है तथा शिकायतकत्र्ता संतुष्टï है।
बैठक में रखे गए मामलों के अलावा भी अनेक गांवों के लोगों ने विकास एवं पंचायत मंत्री के समक्ष बिजली- पानी और विकास कार्यों से संबंधित शिकायतें रखी, जिस पर उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारियों को तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
इस दौरान जिला परिषद चेयरपर्सन अनीता मलिक, जेजेपी प्रदेश संगठन सचिव विजय गोठड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष मुकेश गौड़ व जेजेपी जिलाध्यक्ष जोगेंद्र बागनवाला, भाजपा जिला महामंत्री हर्षवर्धन मान, सीईओ जिला परिषद अनुराग ढालिया, नगराधीश विपिन, हरबीर सिंह, एसडीएम तोशाम मनोज दलाल, एसडीएम सिवानी विरेन्द्र सिंह, कष्टï निवारण समिति सदस्य कमल फौजी, रामकिशन हालुवासिया, जितेन्द्र धोरूडू और भाजपा पूर्व जिलाध्यक्ष नंदराम धानिया, एसई सुरेंद्र देसवाल, डीडीपीओ रविन्द्र दलाल, डीडीए डॉ. विनोद फोगाट, डीएचओ डॉ. देवीलाल, एक्सईन सुनील रंगा अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करे Subscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal