योगेश्वर दत्त ने बबीता-विनेश के आरोपों को नकारा

556
SHARE

रोहतक।

दिल्ली के जंतर मंतर पर बैठे पहलवानों के धरने को लेकर विनेश फोगाट और बबीता फोगाट के आरोपों पर जांच कमेटी के सदस्य और ओलंपिक मेडल विजेता योगेश्वर दत्त ने अपना पक्ष रखा है। उन्होंने कहा कि कमेटी ने वीडियोग्राफी के द्वारा सभी खिलाड़ियों के बयान लिए गए। उसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। रिपोर्ट तैयार कर दी गई थी।

उसमें कोई कमी की गुंजाइश नहीं रखी गई थी। सभी 6 सदस्यों को रिपोर्ट पढ़ने को दी गई। उसके बाद सब ने साइन किए। कमेटी के सामने कोई उत्पीड़न की बात नहीं आई। अभी सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान भी लिया और अगले शुक्रवार को सुनवाई होगी। जो भी दोषी है उसे सजा मिलनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि इसमें किसी की बिना अनुमति के साइन या दबाव बनाने की कोई बात नहीं हुई। ना ही उनके सामने किसी से बदतमीजी हुई। बबीता फोगाट अंतिम दिन साइन वाले दिन नहीं पहुंची थी, जबकि साइन वाले दिन से पहले सभी को मेल कर दिया गया था। वे इस तरह बयान क्यों दे रही, इस बारे में खुद ही कुछ बता सकती है।

विनेश फोगाट ने कहा, ‘मैं आपको 100 बताऊं, 200 बताऊं, 500 बताऊं, 700 बताऊं, 1000 बताऊं, जितनी भी बताऊं मुझे तो कम लगती है, क्योंकि 12 साल से हमने इसका अत्याचार देखा है कि कितना हुआ है। कोई एक लड़की ही कुश्ती में इसने ऐसी छोड़ी होगी, जिसके साथ इसने बदतमीजी या सेक्शुअल हैरेसमेंट करने की कोशिश न की हो।’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘मुश्किल से ही कोई एक लड़की रेसलिंग में बची होगी। मैं इसकी गिनती बता नहीं सकती कि कितनों के साथ ये सब हुआ है। इस काम में ये पूरा सिस्टम जुड़ा होता है। एक अकेला आदमी कुछ नहीं करता है। पूरा सिस्टम फॉलो अप करता है कि कौन लड़की कहां जा रही है और कहां से है। उनका मोबाइल नंबर निकालना है, उनसे बातचीत करवानी है। ये एक पूरा सिस्टम होता है, जिसके जरिए सब जाते हैं और फिर बृजभूषण की एंट्री होती है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal