जिंदा जल गए 3 बच्चे:मां-बाप की हालत गंभीर

547
SHARE

 रेवाड़ी।

जिले में रविवार को एक ही परिवार के 3 मासूम बच्चों की जिंदा जलने से मौत हो गई, जबकि उनके माता-पिता बुरी तरह झुलसे हुए है। बताया जा रहा है कि घर के मुखिया ने घरेलू कलह के चलते ये कदम उठाया। पड़ोसी जब उन्हें बचाने पहुंचे तो पांचों के आपस में रस्सी से पैर बंधे हुए थे। कसौला थाना पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है। गंभीर रूप से घायल दंपती को रोहतक PGI में भर्ती कराया गया है।

 जानकारी के अनुसार, रेवाड़ी जिले के गांव गढ़ी बोलनी निवासी लक्ष्मण एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। शनिवार को किसी बात को लेकर परिवार में ही उसके झगड़ा हुआ था। रात में परिवार के सभी सदस्य घर में सोए हुए थे। बताया जा रहा है कि रात करीब 1 बजे घर के अंदर से जोरदार धमाके की आवाज सुनाई दी। पड़ोसी जितेंद्र और उसका भाई घर पहुंचे तो खिड़की (रोशनदान) उखड़ा हुआ था, जबकि छत का कुछ हिस्सा भी धमाके से टूटा हुआ था।

धमाके की आवाज सुनकर पड़ोसी जितेन्द्र और अन्य लोग जब लक्ष्मण के घर पहुंचे तो रसोई में रखे दोनों सिलेंडर लीक मिले। इतना ही नहीं, चूल्हा भी खुला हुआ था। कमरे में धुआं भरा हुआ था। अंदर जाकर जब बेसुध पड़े परिवार के एक सदस्य को निकालने की कोशिश की तो उसके साथ अन्य भी बाहर की तरफ खिंचने लगे। पड़ोसियों ने जब पांचों को बाहर निकाला तो सभी के पैर रस्सी से बंधे हुए थे। इसके बाद उन्हें फोरन रात में ही पहले ट्रॉमा सेंटर भर्ती कराया।
पांचों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें तुरंत रोहतक PGI के लिए रेफर कर दिया गया, जहां बेटी अनीषा (16), निशा (14) व बेटे हितेश (12) ने दम तोड़ दिया, जबकि लक्ष्मण (34) व उसकी पत्नी रेखा (31) की हालत गंभीर बनी हुई है।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal