अनिल विज का ओएसडी बन हड़पे लाखों रूपए, गिरफ्तार

420
SHARE

 गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज का OSD बनकर भाजपा नेता आशीष गुलाटी ने पुलिस महकमें में नौकरी लगवाने का झांसा देकर करीब 27 लाख रुपए हड़प लिए। आरोपी आशीष गुलाटी ने अपने भांजा लक्ष्य दत्ता के साथ मिलीभगत करके धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिाया।

पुलिस ने अंबाला भाजपा मंडल का उपप्रधान आशीष गुलाटी व उसके भांजे लक्ष्य दत्ता के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। आशीष गुलाटी को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि उसका भांजा लक्ष्य दत्ता अभी फरार है। आशीष को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा।

कुरुक्षेत्र के पिहोवा अनाज मंडी निवासी मनीष गर्ग ने गृह मंत्री अनिल विज को शिकायत सौंपी थी। मनीष ने बताया कि उसकी 11 मार्च को लक्ष्य दत्ता से फूड कोर्ट अंबाला कैंट में मुलाकात हुई थी। यहां लक्ष्य दत्ता ने अपने मामा आशीष गुलाटी को गृह मंत्री अनिल विज का OSD कहकर मिलवाया था। गृह मंत्री को अपना ताया बताया था।

गर्ग ने बताया कि आशीष गुलाटी ने उसके सामने स्पीकर ऑन करके कुरुक्षेत्र SP सुरेंद्र भरिया को उसके एक पैसों के लेन-देन के केस के बारे में बात की। फिर आशीष गुलाटी ने उसके 1,31,63,409 रुपए निकलवाने का आश्वासन दिया। आशीष ने कहा कि किसी तरह का पुलिस महकमे से संबंधित कोई भी काम भर्ती या बहाली का हो तो बता देना सब काम हो जाएगा।

शिकायतकर्ता ने बताया कि लक्ष्य ने अभिषेक का सब इंस्पेक्टर का ऑर्डर कापी भेज दिया, जिसमें उसका बेल्ट नंबर था और 20 मई को मधुबन में जॉइनिंग की बात कही। इस दौरान विक्रम ने अपने साला अजय कुमार को बहाल कराने का काम दे दिया। उसके लिए लक्ष्य ने 8 लाख रुपए की डिमांड की।

विक्रम सिंह ने 7 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए। एक लाख बाद में देने को कहा। आरोपी उनसे 27 लाख रुपए हड़प गए, लेकिन उनके काम कोई नहीं कराए।

पुलिस को शिकायतकर्ता ने लक्ष्य दत्ता के साथ वॉट्सऐप की चैट, ऑर्डर की कॉपी और बैंक की स्टेटमेंट सौंपी है। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 406, 420 व 120-B के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal