भिवानी: विधायक व चेयरपर्सन के स्वयं का वार्ड नंबर-7 रो रहा है बदहाली के आंसू

201
SHARE
भिवानी :
स्वच्छता का राग अल्पाने वाली सरकार के विधायक व जनता द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि ही गंदगी की समस्या की तरफ आंख मंंूद कर बैठ जाए तो इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि स्वच्छता की परिभाषा को किस हद तक सार्थक बनाया जा सकेगा। यही नहीं जब शहर का विधायक व नगर परिषद चेयरपर्सन के स्वयं का वार्ड बदहाली के आंसू बहाने पर मजबूर हो तो शहर की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है।
ऐसा ही हाल स्थानीय डोबी तालाब से रविदास मंदिर रोड़ तक का है, जहां पर बरसाती पानी की निकासी के लिए बनाया गया नाला गलत बनाए जाने के कारण यहां पर हमेशा गंदा पानी खड़ा रहता है। यही नहीं इस क्षेत्र में सीवरेज जाम की समस्या भी गहराई हुई है, जिसके कारण ना केवल क्षेत्रवासी, बल्कि राहगीर भी खासे परेशान है। जिसके कारण पेयजल सप्लाई भी दूषित व बदबूदार होती है। पिछले लंबे समय से सीवरेज व खड़े पानी की समस्या से परेशान क्षेत्रवासियों ने रविवार को जनप्रतिनिधि व प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने चेतावनी दी कि यदि जल्द ही इस समस्या का समाधान नहीं हुआ तो क्षेत्रवासाी संबंधित अधिकारियों के कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन करने पर मजबूर होंगे।
इस बारे में क्षेत्रवासी जोगेंद्र बादशाह, महेंद्र सैनी, सुनील अंघीरा, सरोज, बीर सिंह, लक्ष्मण, कमलेश ने बताया कि उनका क्षेत्र वार्ड नंबर-7 व 8 में आता है। उन्होंने कहा कि वार्ड नंबर-7 विधायक घनश्याम सर्राफ व नगर परिषद चेयरपर्सन प्रीति भवानी प्रताप का क्षेत्र है। इसके बावजूद भी इस क्षेत्र में समस्याओं का अंबार लगा हुआ है। क्षेत्रवासियों ने कहा कि यहां पर गलत तरीके से बनाए गए बरसाती पानी के निकासी के नाले के कारण हमेशा गंदा पानी खड़ा रहता है। इसके अलावा सीवरेज जाम होने के कारण लोगों के घरों के अंदर तक पानी पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि गंदा पानी फैलने के कारण क्षेत्र यहां पर मक्खी, मच्छर की भरमार है, जिसके कारण लोगों में महामारी फैलने का भय बना हुआ है। इसे अलावा पेयजल सप्लाई भी दूषित व बदबूदार होती है। यही नहीं हमेशा गंदा पानी खड़ा रहने के कारण यहां पर हर रोज कोई ना कोई हादसा होता रहता है, जिसके कारण राहगीर चोटिल होते रहते है। क्षेत्रवासियों ने कहा कि समस्या से अवगत करवाने के बाद जनप्रतिनिधि व अधिकारी भी मौका मुआयना करके जा चुके है, लेकिन आज तक समस्या ज्यो की त्यो बनी हुई है।
क्षेत्रवासियों ने कहा कि अब उनका सब्र जवाब दे गया है तथा वे इस क्षेत्र की समस्या के समाधान के लिए हर संघर्ष करने को तैयार है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि जल्द ही प्रशासन नहीं चेता तो वे संबंधित अधिकारियों के कार्यालयों के समक्ष धरना देने को मजबूर होंगे तथा जरूरत पड़ी तो संघर्ष को तेज करने से भी गुरेज नहीं करेंगे।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal