नए साल 2022 में भिवानी को मिलेगी करोंड़ों रुपए की सडक़ परियोजनाओं की सौगात:ढिल्लो

3956
SHARE
नव वर्ष 2022 में सडक़ परियोजनाएं पूरी होने पर शहर की सुंदरता को लगेंगे चार-चांद
नए साल में भिवानी को मिलेगी करोंड़ों रुपए की सडक़ परियोजनाओं की सौगात
पुराना बस स्टैंड से रोहतक गेट-देवीलाल चौक व देवसर मोड़ तक होंगे 40 करोड़ रुपए खर्च
भिवानी, 22 दिसंबर। वर्ष 2022 भिवानी के लिए सडक़ परियोजनाओं की नई सौगात लेकर आएगा। नए वर्ष में जिला में क्रियान्वित अनेक सडक़ परियोजनाएं पूरी होंगी, जिससे न केवल शहर को जाम से मुक्ति मिलेगी, बल्कि शहर की सुंदरता को भी चार-चांद लगेंगे।
उल्लेखनीय है कि कोरोना काल के चलते शहर में विकास कार्य काफी हद तक प्रभावित हुए हैं। इनमें मुख्य रूप से सडक़ परियोजनाएं शामिल रही हैं, जिससे शहर में सडक़ों की हालत जर्जन बनी थी। ऐसे में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। लेकिन पिछले करीब चार महीने से जिला प्रशासन ने सडक़ परियोजनाओं को गति दी है। नव वर्ष 2022 में सडक़ परियोजनाएं पूरी होने पर जहां एक तरफ शहरवासियों को जाम से मुक्ति मिलेगी, बल्कि शहर की सुंदरता भी बढ़ेगी।
नया बस स्टैंड से देवसर मोड़ तक सडक़ पर खर्च होंगे करीब 40 करोड़
सडक़ परियोजनाओं की बात करें की जाए आने वाले नए साल में नया बस स्टैंड से रोहतक गेट, रोहतक गेट से बावड़ी गेट, बावड़ी गेट से हनुमान गेट व हालुवास गेट तथा हालुवास गेट से लोहारू ओवर ब्रिज, वहां से देवीलाल चौक तथा देवीलाल चौक से देवसर मोड़ तक सडक़ का नव निर्माण करवाया जाएगा, जिस पर करीब 40 करोड़ रुपए खर्च होंगे। बावड़ी गेट से लोहारू ओवरब्रिज तक सीसी रोड़ बनाया जाएगा। लंबे समय से परेशानियों का सामना कर यहां से गुजरने वाले वाहन चालकों को राहत मिलेगी। इस रोड़ की मरम्मत का कार्य पूरा हो चुका है। इसी प्रकार से रिवाड़ी-हिसार रेलवे क्रॉसिंग पर फोरलेन ओवरब्रिज का निर्माण कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है, इसका निर्माण भी आने वाले साल में पूरा हो जाएगा।
रोहतक से आने वाले भारी वाहन जाएंगे नए बाईपास से लोहारू की तरफ
रोहतक रोड़ पर गांव निनाण मोड़ से लोहारू रोड़ का बाईपास निर्माण कार्य भी जोरो से चल रहा है। भिवानी-घघ्घर ड्रेन तक बनने वाले करीब 11 कि.मी. सडक़ पर स्ट्रेथनिंग का कार्य चल रहा है। यहीं पर दादरी रोड़ से इसे लोहारू रोड़ में मिलाया जाएगा। इस बाईपास के संपन्न होने के पश्चात रोहतक की तरफ से आने वाले भारी वाहन शहर में प्रवेश नहीं करेंगे और बाईपास होते हुए लोहारू की तरफ जा सकेंगे।
150 करोड़ रुपए न्यू बाईपास के लिए हो चुके हैं मंजूर
इसी प्रकार से सरकार द्वारा रोहतक रोड़ से हांसी रोड़ पर तिगड़ाना मोड़ तक रिंग रोड़ के लिए 150 करोड़ रुपए की राशि भी मंजूर की जा चुकी है। यह रिंग रोड़ करीब 13 कि.मी. लंबा है। इसे तिगड़ाना मोड़ से लोहारू रोड़ में मिलाया जाएगा, जिसकी लंबाई करीब 10.45 कि.मी. लंबी है। इस रिंग रोड़ के लिए भूमि अधिग्रहण वास्ते 75 करोड़ रुपए की राशि मंजूर हो चुकी है।
अग्रसेन चौक पर बनाई जा रही स्टॉन मास्टिक एसफाल्ट तकनीक से सडक़
शहर में न केवल सडक़ों को निर्माण करवाया जा रहा है, बल्कि जर्मनी की तकनीक पर महाराजा अग्रसेन चौक पर स्टॉन मास्टिक एसफाल्ट तकनीक से सडक़ बनाई जा रही है। इस तरह सडक़ चौक-चौराहों पर बनाई जाती है ताकि मोड़ पर गाड़ी फिसल न हो। इस सडक़ पर फिसलन नहीं होती है और साथ-साथ अधिक मजबूत भी होती है। भिवानी में इस तकनीक का पहली बार प्रयोग हो रहा है।
शहर को अतिशीघ्र बेसहारा पशुओं से मुक्त करने की कवायद
आने वाले नए साल में न केवल अनेक सडक़ परियोजनाएं पूरी होंगी, बल्कि जिला प्रशासन द्वारा शहर को बेसहारा पशुओं से मुक्ति दिलाने की भी कारगर योजना तैयार की गई। आवारा पशुओं से मुक्ति के लिए नगर परिषद प्रशासन द्वारा टेंडर छोड़ा जा चुका है, जिस पर शीघ्र ही कार्य शुरु होगा। प्रशासन का हर संभव प्रयास होगा कि जनवरी महीने के अंत तक शहर को बेसहारा पशुओं से निजात मिले। इसके लिए प्रशासन द्वारा सभी गौशाला संचालकों से भी संपर्क कर योजना तैयार की जा चुकी है। इसी कड़ी में बेससहारा पशुओं की पशुपालन विभाग द्वारा टैगिंग की जाएगी, जिससे यह मालूम हो सकेगा कि कौन सा पशु किस गौशाला में भेजा गया है और अंदर भेजने के बाद पशु कौन सी गौशाला से बाहर आया है।
बॉक्स
इस बारे में उपायुक्त आरएस rs ने बताया कि जिला में अनेक सडक़ परियोजनाओं पर निर्माण कार्य चल रहा है। सडक़ परियोजनाएं पूरा होने पर न केवल आवागमन सुगम होगा ,बल्कि शहरवासियों को सरकुलर रोड़ पर वाहनों से लगने वाले जाम से मुक्ति मिलेगी। इसके अलावा शहर को बेसहारा पशुओं से मुक्ति दिलाने के लिए टेंडर छोड़ा जा चुका है।