भारत उद्योग और निवेश के क्षेत्र में तेज़ी से आगे बढ़ रहा है- अनिल विज

25
SHARE
दुबई ।
गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि भारत उद्योग और निवेश के क्षेत्र में तेज़ी से आगे बढ़ रहा है और इसी प्रकार, हरियाणा भी भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है और राज्य को भारत का एक औद्योगिक पावरहाउस माना जाता है, जिसमें 250 से अधिक फॉर्च्यून कंपनियों के कार्यालय स्थित हैं।
 विज आज दुबई में यूएई के शाही परिवार के सदस्य शेख मजीद राशिद अल मौला, मैजेस्टिक इन्वेस्टमेंट, चैंपियंस ग्रुप के मार्गदर्शन में आयोजित “ग्लोबल इन्वेस्टर्स ग्रोथ समिट” में दुनिया भर से आए हुए बिजनेस लीडर्स, बिज़नेस टायकुन, शीर्ष निवेशकों और भागीदारों को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने विभिन्न बिजनेस लीडर्स के साथ बातचीत व चर्चा की और हरियाणा में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए आमंत्रित भी किया।
इस मौके पर श्री विज ने शाही परिवार के सदस्य शेख मजीद राशिद अल मौला का धन्यवाद करते हुए कहा कि उन्होंने मुझे इस सम्मिट में आमंत्रित किया है इसके लिए वे उनका धन्यवाद करते हैं। उन्होंने कहा कि यह सम्मिट शीर्ष निवेशकों और व्यावसायिक भागीदारों से जुड़ने का एक बेहतरीन मंच है।
व्यापार और सेवाओं में विदेशी व्यापार के विकास और रोजगार के सृजन के लिए भारत सरकार ने की विदेश व्यापार नीति लागू- विज
गृह मंत्री ने कहा कि भारत उद्योग और निवेश के क्षेत्र में प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में तेजी से आगे बढ़ रहा है। डिजिटल इंडिया, स्टार्टअप इंडिया, मेक इन इंडिया और स्किल्स इंडिया जैसे प्रमुख कार्यक्रमों द्वारा भारत में औद्योगीकरण को बढ़ावा देने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि व्यापार और सेवाओं में विदेशी व्यापार के विकास और रोजगार के सृजन के लिए एक स्थिर और टिकाऊ वातावरण प्रदान करने के लिए, एक विदेश व्यापार नीति लागू की गई है और भारत सरकार “सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास-सबका प्रयास” के मूलमंत्र के साथ काम कर रही है।
भारत के लिए यूएई 10वां सबसे बड़ा एफडीआई निवेशक – विज
बढ़ते भारत-यूएई आर्थिक और वाणिज्यिक संबंध पर उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच तेजी से गहन द्विपक्षीय संबंध मजबूत हो रहे हैं। भारत-यूएई व्यापार का मूल्य लगभग 60 अरब अमेरिकी डॉलर है और यह भारत के लिए 10वां सबसे बड़ा एफडीआई निवेशक है।
व्यापार करने की सुगमता हरियाणा दूसरा सबसे अच्छा राज्य और निर्यात तैयारियों में पहले स्थान पर- विज
विज ने कहा कि हरियाणा राज्य भारत के सबसे प्रगतिशील राज्यों में से एक है और हरियाणा ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद में लगभग 3.94 प्रतिशत का योगदान दिया और राज्य की प्रति व्यक्ति आय 2,39,535 है जो भारत की तुलना में दोगुनी है। ऐसे ही, व्यापार करने की सुगमता (LEADS सर्वेक्षण 2021) के मामले में हरियाणा को देश का दूसरा सबसे अच्छा राज्य और निर्यात तैयारियों (निर्यात तैयारी सूचकांक 2021) में पहले स्थान पर रखा गया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा क्रेन, उत्खनन, कार, दोपहिया, जूते, वैज्ञानिक उपकरण और कई अन्य का अग्रणी निर्माता है और हरियाणा की रणनीतिक स्थिति के अंतर्निहित लाभ है। राज्य में 5 घरेलू हवाई अड्डे हैं, जैसे हिसार, भिवानी, करनाल, नारनौल और पिंजौर और 2 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों- चंडीगढ़ और नई दिल्ली से निकटता भी ह
उन्होंने कहा कि राज्य भर में 37 अत्याधुनिक औद्योगिक मॉडल टाउनशिप (आईएमटी) और औद्योगिक एस्टेट (आईई) विकसित किए हैं। इसी तरह, केएमपी एक्सप्रेसवे के दोनों किनारों पर 2 किलोमीटर के हिस्से को निवेश क्षेत्र घोषित किया जाएगा। राज्य ने निर्यातोन्मुखी इकाइयों और व्यापार संबंधी मुद्दों के समाधान के लिए 108 एकड़ भूमि पर एक निर्यात संवर्धन औद्योगिक पार्क (ईपीआईपी) की स्थापना की है और हाल ही में “हरियाणा उद्यम और रोजगार नीति-2020” लॉन्च की है। उन्होंने कहा कि आज सभी उद्योगों के व्यवसाय नवोन्मेषी और लागत प्रभावी समाधानों की तलाश में हैं जो इस शिखर सम्मेलन के माध्यम से अपने परिणामों को तेजी से बढ़ा सकते हैं। साथ ही खुशी व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि शेख माजिद राशिद अल मौला की कंपनी ने चंडीगढ़ शहर में अपना नया कार्यालय स्थापित किया है, क्योंकि कंपनी में चंडीगढ़ के कई लोग काम करते हैं। इस अवसर पर उन्होंने उद्योग जगत के लीडर्स और उद्यमियों को इकाइयां स्थापित करने के लिए हरियाणा आने के लिए आमंत्रित भी किया। इस मौके पर समिट के दौरान उन्हें स्मृति चिन्ह देकर भी सम्मानित किया गया।
अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal