नूंह के दंगाईयों-पुलिस में मुठभेड़

887
SHARE

नूंह।

नूंह जिले के तावड़ू में पुलिस और दंगाईयों के बीच मुठभेड़ हो गई। दोनों तरफ से फायरिंग हुई। जिसके बाद नूंह पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसे गोली लगी है। यह घटना तब हुई, जब पुलिस अरावली की पहाड़ियों में छुपे 31 जुलाई की नूंह हिंसा के आरोपियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन चला रही है।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक उन्हें जानकारी मिली थी कि 31 जुलाई की नूंह हिंसा में शामिल 2 दंगाई राजस्थान के रास्ते तावड़ू से होते हुए नूंह आ रहे हैं। इसका पता चलते ही CIA स्टाफ की टीम उनके पीछे लग गई। जब उन्हें तावड़ू के पहाड़ी इलाके में रोकने की कोशिश की गई तो उन्होंने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके जवाब में पुलिस ने भी गोलियां चलाई। जिसमें एक दंगाई को गोली लग गई। जिसके बाद दूसरा फरार हो गया। पुलिस ने जख्मी दंगाई को पकड़ लिया।

उसे इलाज के लिए नल्हड़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। नूंह पुलिस के मुताबिक निरीक्षक संदीर मोर के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। उन्होंने नूंह हिंसा के मामले में शामिल आरोपी मुनफेद निवासी गवारका को और उसके साथी आरोपी सैकुल निवासी गवारका को गिरफ्तार किया। तलाशी लेने पर उनसे एक अवैध देसी कट्‌टा, कारतूस और बाइक बरामद की गई है। इन दोनों को तावडू के सिलखो गांव की पहाडी के नजदीक से गिरफ्तार किया गया है।

नूंह पुलिस के प्रवक्ता कृष्ण कुमार ने बताया कि दोनों तरफ से 4 से 5 राउंड फायर हुए। इसके बाद एक बदमाश के पैर में गोली लगी जबकि दूसरे को मौके पर ही दबोच लिया गया। यह कार्रवाई करीब एक घंटे तक चली।

नूंह में 31 जुलाई को हुई हिंसा में शामिल संदिग्ध लोग अरावली की पहाड़ियों में छिपे हुए हैं। आरोपियों को पकड़ने के लिए STF और पुलिस टीमों ने ड्रोन की मदद ली है, जिसके जरिए उनके ठिकानों को तलाश करने के बाद उन्हें हिरासत में लिया जा रहा है। हालांकि साक्ष्य मिलने के बाद ही उनकी गिरफ्तारी की जाएगी, लेकिन अब से पहले पुलिस पहाड़ियों में छिपे 8 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

अपने आस-पास की खबरे देखने के लिए हमारा youtube चैनल Subscribe करेSubscribe करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करे https://www.youtube.com/bhiwanihulchal